ई-नोटिस थमाने मेंं भोपाल को पीछे छोड़ा इंदौर ने

On Date : 07 December, 2017, 12:43 PM
0 Comments
Share |

प्रसं, भोपाल। यातायात नियम का उल्लंघन कर दुर्घटनाओं को न्यौता देने वाले वाहन चालकों को ई-नोटिस जारी कर समन शुल्क वसूलने के मामले में इंदौर जिले ने राजधानी भोपाल को पीछे छोड़ दिया है। इसमें खास बात यह है कि भोपाल से दो साल बाद इस प्रक्रिया को शुरु करने के बाद भी इंदौर जिले ने भोपाल के बजाय चार गुना नोटिस जारी किए और सरकारी खजाने में आमदनी भी ज्यादा कराई। राज्य सरकार ने यातायात नियमो का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों को ई-नोटिस जारी करने की प्रक्रिया एक जनवरी 2013 से शुरु की थी। जबकि इंदौर में यह प्रक्रिया दो साल बाद 27 जनवनरी 2015 से प्रारंभ की गई। यातायात शाखा भोपाल में एक जनवरी 2013 से नवंबर 17 तक एक लाख 51 हजार 325 ई नोटिस वाहन चालकों को भेजे गए। भोपाल में ई-नोटिस के जरिए कुल एक  करोड़ 95 लाख 11 हजार 450 रुपए  समन शुल्क वसूला गया। वहीं यातायात शाखा इंदौर द्वारा 27 जनवरी 15 से नवंबर 17 के बीच 5 लाख 71 हजार 799 वाहन चालकों को नोटिस जारी किए गए। इन वाहन चालकों से इंदौर मेें 7 करोड़ 79 लाख 68 हजार 750 रुपए समन शुल्क वसूला गया।
करोड़ों रुपए की वसूली बाकी
यातायात शाखा भोपाल द्वारा 91 हजार 107 और यातायात शाखा इंदौर द्वारा भेजे गए 2 लाख 94 हजार 68 ई-नोटिसों का निराकरण अभी बाकी है। इनके जरिए भी सरकारी खजाने में करोड़ों रुपए आएंगे। यातायात शाखा इंदौर द्वारा जारी एक लाख 46 हजार 172 ई-नोटिस का समन शुल्क का भुगतान यातायात थाने में प्राप्त होने के कारण ये मामले न्यायालय में पेश नहीं किए गए।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार