शौचालय के नाम पर करोड़ों का भ्रष्टाचार निशाने पर बड़े अफसर

On Date : 17 September, 2017, 1:08 PM
0 Comments
Share |

प्रशासनिक संवाददाता, भोपाल
प्रदेश के आधे से ज्यादा जिलों में शौचालय के नाम पर भ्रष्टाचार और घोटाला होने पर कई कलेक्टर निशाने पर हैं। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अफसर भी राडार पर हैं। संभावना  है कि राज्य में शुरू हुए स्वच्छता अभियान के दौरान कई अफसरों और कर्मचारियों पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान व उनके सहयोगी मंत्रियों की गाज गिर सकती है। सीएम व मंत्रियों ने आज से पीएम नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन पर स्वच्छता अभियान प्रारंभ किया।छतरपुर जिले में शौचालय घोटाले सामने आए हैं। जनपद पंचायत बड़ामलहरा में हितग्राहियों को 12 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि नहीं दी गई है। यह राशि जनपद पंचायत में पदस्थ कर्मचारियों और रोजगार सहायक की मिलीभगत से गुजरात के खातों में भेजने की खबर है।
सतना में भी सामने आया मामला
सतना जिले की मझगवां जनपद की 76 ग्राम पंचायतों में गड़बड़ी होना सामने आई है। यहा18 हजार 316 शौचालयों के निर्माण के लिए बतौर अनुदान दी गई राशि में 1 करोड़ 66 लाख 60 हजार की राशि का दुरुपयोग होने का आरोप है।
पचास लाख का घोटाला
अनूपपुर जिले में पचास लाख का शौचालय घोटाला हो गया। शहडोल संभाग के आयुक्त से शिकायत की गई है कि शौचालय के नाम पर 12 हजार रुपए मान से करीब 1200 शौचालयों के नाम पर राशि निकाली गई। बारगवां की सरपंच के खिलाफ धारा 40 के तहत कार्रवाई करने की तैयारी है।  सत्यनारायण पांडे ने चचाई पुलिस में शिकायत भी की है।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार