मुंबई में एक इमारत में लगी आग में , 4 लोगों की मौत, 7 घायल

On Date : 04 January, 2018, 8:40 AM
0 Comments
Share |

मुंबई : मुंबई में कमला मिल्स कंपाउंड के एक रेस्टोरेंट में लगी आग की तपिस अभी ठंडी भी नहीं हो पाई कि एक और अग्निकांड में चार लोगों की मौत हो गई. इस बार मरोल इलाके में मौजूद मैमून बिल्डिंग में लगी आग में चार लोगों की मौत हो गई, जबकि सात अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हैं. दमकल विभाग ने कई घंटों की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया है. बता दें कि 28 दिसंबर की रात कमला मिल्स कंपाउंड में लगी भीषण आग में 14 लोगों की मौत हुई थी और 50 से अधिक लोग घायल हुए थे.

पुलिस ने मिली जानकारी के मुताबिक, बुधवार देर रात करीब डेढ़ बजे अंधेरी के मरोल इलाके में स्थित एक रिहायशी इमारत मैमून बिल्डिंग की तीसरी मंजिल पर आग लग गई. आग की सूचना पाते ही मौके पर दमकल विभाग की 8 गाड़ियां पहुंच गईं. कई घंटे की कड़ी मेहनत के बाद आग पर काबू पाया गया. लेकिन जब तक आग ठंडी होती तब तक चार लोगों की जान जा चुकी थी. आग के कारणों का पता नहीं लग पाया है, लेकिन मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि आग ने कुछ ही देर में विकराल रूप धारण कर लिया.

घटना के बाद फायर ब्रिगेड ने 6 फायर फाइटर की मदद से करीब एक घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया और अंदर फंसे दोनों कमरों के लोगों को बाहर निकाला. सभी लोगों के तुरंत ही नजदीक अस्पतालों में भर्ती कराया गया. जहां अब उनकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है.

दमकल विभाग ने आग से हताहत सभी लोगों को कुपर और मुकुंद अस्पताल में भर्ती कराया. देखते-देखते आग ने अपना विकराल रूप धारण कर लिया. इमारत के अंदर फंसे लोग बचाओ-बचाओ चिल्ला रहे थे लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. लोगों की मौत दम घुटने से हुई है.
पुलिस के मुताबिक, बिल्डिंग की तीसरी मंजिल में जब आग लगी उस समय वहां पर करीब 12 लोग मौजूद थे. पुलिस ने अलग-अलग कमरों में मौजूद 7 लोगों को तो निकाल लिया लेकिन एक फ्लैट में रह रहे परिवार के चार लोगों की मौत दम घुटने से हो गई. मृतकों में तसनीम कापसी (45), सकीना कापसी (15), मोइज कापसी (8) और परिवार के 70 वर्षीय एक अन्य सदस्य शामिल हैं. पुलिस आग के कारणों की खोज में लगी हुई है.

बता दें कि पिछले हफ्ते ही गुरुवार की देर रात मुंबई के कमला मिल्‍‍स कंपाउंड में लगी भीषण आग में कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि करीब 50 लोग घायल हुए थे. सभी की मौत दम घुटने की वजह से हुई थी. पुलिस ने इस अग्निकांड में गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. पुलिस ने रेस्टोरेंट के मालिक के. सांघवी, जी. सांघवी और अभिजीत मंकर के खिलाफ मामला दर्ज किया था. इस हादसे के बाद बीएमसी और अन्य विभागों ने मुंबई के होटलों और पब्स में सुरक्षा इंतजामों की जांच शुरू की थी, रेस्टोरेंट और पब्स में किए गए बड़े पैमाने पर अवैध निर्माणों को तोड़ा गया. इस अग्निकांड की गूंज लोकसभा और राज्यसभा में भी गूंजी थी, लेकिन इस हादसे के बाद भी प्रशासन ने कोई सबक नहीं लिया और ठीक एक हफ्ते बाद एक और हादसा हो गया.

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार