सामूहिक सूर्य नमस्कार हुआ

On Date : 12 January, 2018, 9:44 PM
0 Comments
Share |

शंकराचार्य जी के अद्वैतवाद दर्शन को प्रतिपादित करने ऊँ की बनाई आकृति  
प्रदेश टुडे संवाददाता, होशंगाबाद
आज जिले में हर्बल पार्क में एक ही स्थान पर दो कार्यक्रम का आयोजन किया गया। पहला आदि गुरू शंकराचार्य और महान योगी स्वामी विवेकानंद जी के जन्म दिवस 12 जनवरी को सामूहिक सूर्य नमस्कार का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में लगभग 3600 स्कूली बच्चों ने एक जगह एकत्रित होकर सामूहिक सूर्य नमस्कार किया। यह प्रदेश में पहली बार हुआ है कि इतनी बड़ी संख्या में स्कूली बच्चों ने एक जगह एकत्रित होकर सामूहिक सूर्य नमस्कार में भाग लिया हो। उक्त दोनों ही कार्यक्रम में मप्र विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. सीताशरण शर्मा, नर्मदापुरम् संभाग कमिश्नर उमाकांत उमराव, कलेक्टर अविनाश लवानिया, पुलिस अधीक्षक अरविंद सक्सेना सहित प्रशासनिक अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों, स्वयंसेवी संस्था के पदाधिकारियों, शिक्षकगणों ने सहभागिता निभाई। अवसर पर लगभग 3600 छात्र-छात्राओं ने सामूहिक सूर्य नमस्कार किया। इस अवसर पर  छात्र-छात्राओं ने सूर्य नमस्कार के 12 आसनों के 3 चक्र का अभ्यास कराया तथा सूर्य नमस्कार के लाभ भी बताए।  जिले के योग प्रोफेसर आर्य रघुवीर सिंह, शिक्षक नंद किशारे रघुवंशी, अमर सिंह रघुवंशी, सूर्यकांत गोदना एवं शैलेन्द्र तोमर के मार्ग दर्शन में सभी ने सूर्य नमस्कार किया। सूर्य नमस्कार के प्रथम चक्र में पादस्त आसन, अष्टांग नमस्कार, पवर्तासन, अश्वसंचाल आसन, हस्त उत्तासन, प्रार्थना की मुद्रा शामिल थी। इन आसनों को करने से आत्म विश्वास में वृद्धि होती है।   कार्यक्रम में माया नरोलिया, विभिन्न जनप्रतिनिधिगण, जिला एवं सत्र न्यायाधीश  एसकेएस कुलकर्णी, पुलिस अधीक्षक अरविंद सक्सेना, स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधिगण, अधिकारी एवं कर्मचारीगण, प्रतिनिधिगण, शिक्षकगण मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन  सुनील वाजपेयी ने किया एवं आभार प्रदर्शन जिला संयोजक जन अभियान परिषद कौशलेश तिवारी ने किया।

विस अध्यक्ष ने एकात्म यात्रा के स्वागत के लिए तत्पर रहने को कहा
 आदि गुरू शंकराचार्य के स्त्रोतों एवं श्लोकों के सामूहिक गान कार्यक्रम में म.प्र. विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. सीताशरण शर्मा ने महान योगी स्वामी विवेकानंद के चित्र पर माल्यार्पण किया। डॉ. शर्मा ने कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हम सब एकात्म यात्रा के स्वागत के लिए तत्पर हैं। एकात्म यात्रा का आगाज करने के लिए हम सब नर्मदा के तट पर एकत्रित हुए हैं। डॉ. शर्मा ने कहा कि युवाओं के पथ प्रदर्शक स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर पर आयोजित सूर्य नमस्कार से हम एकात्म यात्रा का भी आगाज कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने भारत का परचम पूरे विश्व में फहराया है तो आदि गुरू शंकराचार्य ने भारत के चारों कोनों में 4 पीठ की स्थापना कर संदेश दिया कि तात्कालीन राजनैतिक सत्ता भले ही अलग-अलग होगी किंतु भारत की सांस्कृतिक सत्ता एक ही है।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार