डिलेवरी में दिक्कत, नहीं हुई मरहम-पट्टी

On Date : 13 September, 2017, 1:26 PM
0 Comments
Share |

प्रदेश टुडे संवाददाता, भोपाल
सुल्तानिया अस्पताल में नर्सों के निलंबन को लेकर आज नर्सेस कर्मचारियों ने अस्पताल में काम बंद रखा। काम बंद होने से सुल्तानिया अस्पताल में भर्ती गर्भवती महिलाओं और प्रसूता को काफी परेशानियों को सामना करना पड़ा। नर्सेस कर्मचारियों का कहना था अस्पताल प्रबंधन द्वारा गलत तरीके से रिपोर्ट पेश की थी, जिसकी वजह से अस्पताल की 4 नर्सों को निलंबित किया गया है, जबकि इस तरह की कार्रवाई डॉक्टरों पर होनी चाहिए। वहीं, स्त्री रोग विभाग की एचओडी डॉ. अरुणा कुमार ने बताया जांच के संबंध में कमिश्नर द्वारा कमेटी बनाई गई थी, ये कर्मचारी दो अलग-अलग मामलों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं।
हमीदिया हॉस्पिटल से बुलार्इं नर्सें
अस्पताल के अधीक्षक डॉ. करण पीपरे ने कहा है कि मरीजों को परेशानी न हो इसके लिए हमीदिया अस्पताल से 10 नर्सोंं को बुलाया गया है और दोपहर बाद 20 और नर्सेस आ जाएंगी। रात के शिफ्ट में भी करीब 20 नर्सेेस को ड्यूटी पर लगाया गया है। काम बंद की खबर लगते ही जीएमसी डीन डॉ. एमसी सोनगरा ने आपात बैठक बुलाई।
इधर जेपी पहुंचे मंत्री गुप्ता
मरीजों की समस्या के समाधान के लिए लगाई जाने वाली चौपाल में आज राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता टीटी नगर स्थित डॉ. कैलाशनाथ काटजू अस्पताल और जयप्रकाश अस्पताल पहुंचे। राजस्व मंत्री गुप्ता ने चौपाल में आने वाले मरीजों की समस्याओं का समाधान किया। उन्होंने कहा कि अब चौपाल में मरीजों की संख्या कम हो गई है, क्योंकि उनकी समस्याएं भी खत्म हो रही हैं। टोकन सिस्टम पर उन्होंने कहा कि डॉक्टरों के कैबिन के पास अब लाइन लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार