सूख गया मौसम, कैसे हो झमाझम

On Date : 16 July, 2017, 5:25 PM
0 Comments
Share |

मानसून की बेरुखी ने तरसाया ग्वालियर
प्रदेश टुडे संवाददाता, ग्वालियर

मौसम के मिजाज में आई तब्दीली के चलते हवा की नमी सूख जाने से यहां छाने वाले बादल बिना बरसे लौटते जा रहे हैं। मानसून की इस बेरुखी के कारण आधी जुलाई बीतने के बाद भी ग्वालियर में औसत बारिश नहीं हो पाई है और लोग यहां झमाझम बरसात के लिए तरस रहे हैं।
खास बात ये है कि इस दौरान बंगाल की खाड़ी में लगातार सिस्टम बनने से मध्यप्रदेश व पड़ोसी राज्यों के क ई जिलों में मूसलाधार बारिश हो रही है लेकिन ग्वालियर-चंबल अंचल पानी के लिए लगातार तरसता जा रहा है। इसका असल कारण है यहां छाने वाले बादलों को ठंडा करने के लिहाज से पर्याप्त नमीं का न मिल पाना। इस बीच चिंता की बात ये भी है कि अच्छी बारिश के लिहाज से जुलाई के महीने के आधे मानसूनी सिस्टम भी निकल चुके हैं लेकिन समूचा अंचल औसत बारिश को तरस रहा है। गौरतलब है कि जुलाई में यहां मानसून के 6 सिस्टम बनते हैं, जिनमें से तीन तो अब तक गुजर चुके हैं।

खास बातें

  •     बंगाल की खाड़ी में मानसूनी सिस्टम बनना जारी
  •     अंचल में नमी की कमी से नहीं हो पा रही बारिश
  •     6 में से 3 सिस्टम निकले लेकिन औसत वर्षा भी नहीं
  •     मौजूदा हाल में अंचल पर मंडराता सूखे का खतरा।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार