हिंदुत्व को एक करने फूंके 5 मंत्र

On Date : 12 January, 2018, 9:52 PM
0 Comments
Share |

कार्यकर्ता सम्मेलन में 4 हजार से अधिक स्वंयसेवकों को भागवत ने किया संबोधित
प्रदेश टुडे संवाददाता, विदिशा
एसएटीआई खेल परिसर में राष्टÑीय स्वंय सेवक के कार्यकर्ता सम्मेलन मे सर संघ चालक डा. मोहनराव भागवत ने सामाजिक समरसता का संदेश देते हुए कहा कि हिन्दुओं का देश हिन्दुस्तान हैं। यहां रहने वाला प्रत्येक व्यक्ति हिन्दू हैं। यहां रहने वाले सभी के पूर्वज हिन्दू ही हैं। यदि कोई घर वापस आए और आप प्रेम ना करो तो काम नहीं चलेगा। आपस में प्रेमभाव और जातिवाद ऊंचनीच से उठकर उनका साथ देना पड़ेगा जब वह यहां पर आएगें। सभी को अपने वतन से प्रेम करतें हैं। उन्होने कहा कि हिन्दु बचाओं और हिन्दू जगाओं और हिन्दुओं की घर वापिसी करो और हिन्दुओं की संख्या बढ़ाना हैं। डा. भागवत ने स्वामी विवेकानंद के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि स्वामी विवेकानंद का वेदांत का दर्शन अपनाऐं। उन्होने कहा कि वेतांतो को जीना चाहिए वेंदात बोलने की बात नहीं हैं अपने स्वंय के जीवन में स्वार्थ और भेद की दृष्टि छोड़कर कार्य करो। उन्होने कहा हिन्दुस्तानियों का देश हिन्दुस्तान हैं जहां पर अच्छा या बुरा होने पर हिन्दुओं को पकडा जाता हैं। हम सबको जोड़ने वाला हिन्दू हैं।
आरएसएस चीफ ने कुटुम्ब प्रबोधन, सामाजिक समरसता,धर्म जागरण,गाय की सेवा व एकात्म वाद में ही हिन्दुत्व है विषयों पर अपना उदबोधन रखा।
सप्ताह में एक दिन परिवार
के साथ जिएं
 मोहन भागवत ने कहा आज कल एक नया माहौल दिखाई दे रहा हैं। व्यक्ति को सप्ताह में एक दिन परिवार के साथ जीना चाहिए। वर्तमान दौर में स्थिति यह हैं कि परिवार में हर व्यक्ति का कमरा अलग अलग होने लगा। एक ही परिवार के सदस्य अलग अलग रह रहे। माता पिता बेटा बेटी अपने मोबाईल में क्या कर रहें हैं किसी को किसी से मतलब नहीं और कह दिया तो बात बिगड़ जाती है। उन्होने कहा कि सभी को एक दिन पूरी मस्ती के साथ परिवार के साथ जीना चाहिए। लेकिन एक बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि बच्चों के साथ राजनीति, सिनेमा और किक्रेट की बात नहीं करना वर्ना दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।
बिना पास से नहीं मिली एंट्री, मध्यक्षेत्र के दिग्गज हुए शामिल
 कार्यकर्ता सम्मेलन में पुलिस और अन्य सुरक्षा एंजेसियों से ज्यादा स्वंय सेवकों ने कार्यक्रम की गोपनियता, सुरक्षा व अन्य व्यवस्थाओं को व्यवस्थित तरीके से संभाल रखा था। सम्मेलन में कार्यकर्ता पूरे अनुशासन में दिखाई दिए। मध्य क्षेत्र के स्वंय सेवक और प्रदेश भाजपा नेता सहित जिले भर के जनप्रतिनिधि मौजूद रहे। मंच पर सरसंघ चालक डा. मोहनराव भागवत, जिला संघ चालक खुमानसिंह, और मध्यक्षेत्र के सह संघचालक अशोक सोनी उज्जैन बैठे हुए थे।
गुणवान कार्यकर्ता खड़े
करना संघ का काम
 डा. भागवत ने कहा कि संघ का काम स्वार्थ रहित,भेद रहित और गुणवान कार्यकर्ता खड़े करना हैं। जो समाज उत्थान, भारत उत्थान, का कार्य कर सकें। उन्होने कहा कि कार्यक्रम तो बहुत कर लेतें हैं। लेकिन कार्यक्रमों से मिली शिक्षा के साथ आगे बढ़ना चाहिए। नहीं तो स्टेण्ड पर खड़ी सायकल की तरह स्थिति हो जाएगी कि पहिया तो चल रहा है लेकिन सायकल आगे नहीं बढ़ रही हैं।
कांग्रेस के साथ लड़ी
स्वतंत्रता की लड़ाई
 संघ के संस्थापक डा. हेडगैवार के बारे में विस्तार से बताते हुए उन्होने कहा कि उन्होने महात्मागांधी, बाल गंगाधर तिलक, सुभाष बौस, राजगुरू आदि के साथ भारत की स्वतंत्रता के लिए लड़े और अपनी बात उनके सामने रखी। डा. हेडगवार संघ की स्थापना के पहले और बाद में जैल भी गए। पहले एक ही पार्टी हुआ करती थी कांग्रेस जिसके साथ स्वतंत्रता का प्रचार डा. हेडगेवार ने किया। बाद में संघ और अन्य सगंठन बने।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार