शौचालय बनाकर पछताए, दो साल से नहीं मिली फूटी कौड़ी

On Date : 20 March, 2017, 4:53 PM
0 Comments
Share |

प्रदेश टुडे संवाददाता, जबलपुर
‘शौच के लिए जिंदगी भर बाहर जाते... लेकिन .. ऐसा मालूम होता तो कभी शौचालय नहीं बनवाते...  जनपद-जिला पंचायत के अफसरों ने स्वच्छता के नाम पर फंसा दिया। दो साल बीत गए, शौचालय उपयोग हो रहे हैं, लेकिन खातों में धेला नहीं आया। जनपद-जिला पंचायत के अफसर दो साल से झूठा आश्वासन दे रहे हैं कि जल्द पैसा आएगा लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।’ यह बात जबलपुर जनपद की ग्राम पंचायत बीजापुरी के ग्रामीणों ने जिला पंचायत सीईओ-अध्यक्ष को शिकायत सौंपकर कही। ग्रामीणों का कहना था कि दो साल पहले कर्जा लेकर शौचालय निर्माण कराया था, अधिकारियों द्वारा कहा गया था कि सबके खातों में 12-12 हजार रुपए आएंगे, किंतु आज तक पैसा नहीं आया। ग्रामीणों ने कहा कि जिनसे कर्जा लिया वे रोजाना घर आकर पैसा मांग रहे हैं अगर मालूम होता है कि शौचालय बनाने से इतनी बड़ी परेशानी होगी कभी शौचालय नहीं बनवाते।
प्रमाण पत्र लेने ग्रामीणों को फंसाया
ग्रामीण अनंतराम पटेल, संजीव पटेल, अजय कुमार ने कहा कि जनपद के अधिकारियों ने उन्हें जानबूझकर फंसाया है, पंचायत को ओडीएफ घोषित कराने और प्रमाण पत्र लेने के लिए खुद के खर्च में शौचालय बनवाए गए अब पैसे मांग रहे थे तो अधिकारी बहाना बता रहे हैं और यह सब स्वच्छता का प्रमाण पत्र लेने के लिए किया गया।

जिला पंचायत के अफसर भोपाल-दिल्ली की बात करते
ग्रामीण हल्के राम, दिनेश बर्मन, नीलेश दुबे ने बताया कि जनपद से झूठे आश्वासन मिलने के बाद जब वह जिला पंचायत पहुंचे तो यहां के अफसर भोपाल-दिल्ली में राशि रुके होने की बात कहकर उन्हें टरका रहे हैं। ग्रामीणों ने जिला पंचायत अध्यक्ष-सीईओ से शिकायत में कहा कि जल्द ही उन्हें राशि नहीं मिली तो वह जिला पंचायत पहुंचकर अनिश्चित कालीन धरना देंगे।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार