भारत-भूटान के संबंध अत्यधिक विश्वास व पारस्परिक सम्मान पर आधारित हैं: सुषमा

On Date : 12 January, 2018, 8:55 PM
0 Comments
Share |

नयी दिल्ली : विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज कहा कि भूटान के साथ सहयोगात्मक साझेदारी की मजबूत आधारशिला के निर्माण के लिए भारत प्रतिबद्ध है और दोनों देशों के बीच ‘‘अनुकरणीय’’ संबंध अत्यधिक विश्वास, पारस्परिक सम्मान और एक-दूसरे के हितों के प्रति संवेदनशीलता पर आधारित हैं।
 

सुषमा ने राजनयिक संबंधों की स्वर्ण जयंती मनाने के लिए अपने भूटानी समकक्ष लिनोपो डैम्चो दोरजी के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए एक विशेष लोगो का अनावरण किया और सभी पक्षों से पारस्परिक लाभ के लिए भागीदारी की पूर्ण क्षमता को महसूस करने के वास्ते नयी प्रतिबद्धता तथा सभी पक्षों से प्रयासों का आह्वान किया।
 

विदेश मंत्री ने कहा, ‘‘भारत और भूटान के बीच मित्रता तथा सहयोग के अनुकरणीय संबंध साझा मूल्यों और प्राथमिकताओं, अत्यधिक विश्वास और समझ, पारस्परिक सम्मान और एक-दूसरे के हितों के प्रति संवेदनशीलता पर निर्मित हैं।’’
 

उन्होंने उल्लेख किया कि दोनों देशों के बीच भागीदारी और लोगों से लोगों के बीच संपर्क संबंधों को गहराई, विशिष्टता और जीवंतता प्रदान करते हैं।
 

विदेश मंत्रालय की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार सुषमा ने भारत के क्रमिक नेतृत्व और भूटान के महामहिम नरेशों के दृष्टिकोण, ज्ञान और अंत:दृष्टि तथा इसे आगे बढ़ाने के लिए उनके द्वारा लगातार किए गए मार्गदर्शन को याद किया जिन्होंने इस विशेष और अद्वितीय संबंध के लिए मजबूत आधारशिला रखी।
 

इसमें कहा गया, ‘‘दोनों देशों के लोगों द्वारा पिछले 50 साल की परिपूर्णता का जश्न मनाए जाने के बीच मंत्री ने पारस्परिक लाभ के लिए भारत\भूटान भागीदारी की पूर्ण क्षमता को महसूस करने के लिए नयी प्रतिबद्धता और सभी पक्षों से प्रयासों का आह्वान किया।’’

सुषमा ने फिर से इस बात की पुष्टि की कि भारत भूटान के साथ सहयोगात्म्क भागीदारी की मजबूत आधारशिला निर्माण का पालन कर रहा है। विज्ञप्ति में कहा गया कि भारत और भूटान ने इस उपलक्ष्य में सालभर सिलसिलेवार विशेष सांस्कृतिक कार्यक्रमों, प्रदर्शनियों और सेमिनार के आयोजन की योजना बनाई है।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार