नितिन पटेल ने तोड़ी चुप्पी, कहा- नहीं करेंगे समझौता

On Date : 30 December, 2017, 8:24 PM
0 Comments
Share |

गुजरात में छठी बार सरकार बनाने के साथ ही भाजपा में विवाद शुरू हो गया है। मंत्रालयों के बंटवारे के समय से चर्चा में रहे उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल की नाराजगी एक बार फिर देखने को मिली। इस्तीफे की अटकलों के बीच नितिन ने अपनी नाराजगी के साफ संकेत भी दे दिए हैं।

मामले पर अभी तक चुप्पी साधे रहे पटेल ने कहा कि उन्हें कोई फैसला नहीं लेना है और यह पार्टी आला कमान के हाथ में है कि उनकी प्रतिष्ठा उन्हें वापस दी जाए। उन्होंने कहा कि यह बात सत्ता या मंत्रालय की नहीं है उनके आत्मसम्मान की है और वो समझौता नहीं करेंगे और ये बात पार्टी को बता दी है। इसके साथ ही उन्होंने 10 विधायकों के समर्थन की बात को सिरे से खारिज कर दिया।

वहीं पार्टी के नेता पटेल को मनाने की कोशिश में लग गए हैं। राज्य में भाजपा के वरिष्ठ नेता नरोत्तम पटेल नितिन की नाराजगी दूर करने शनिवार को उनसे मिलने पहुंचे। पटेल ने  पत्रकारों से कहा कि नितिन गुजरात के डिप्टी सीएम और काबिल नेता हैं, मनपसंद मंत्रालय ना मिलने से वो नाराज हैं और इसीलिए मैं उनसे मिलने आया हूं। मैं चाहता हूं कि पार्टी उनको उनके पंसदीदा मंत्रालय दे क्योंकि उनका काम शानदार रहा है। बताया जा रहा है कि पटेल को मनाने के लिए सोमवार को भाजपा मुख्यालय में एक बैठक होगी, जिसमें सीएम विजय रूपाणी, गुजरात बीजेपी अध्यक्ष जीतू वघानी और पूर्व सीएम आनंदीबेन पटेल मौजूद रहेंगी।

बता दें कि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल के बीच नाराजगी को पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने भुनाने की कोशिश शुरू कर दी है। हार्दिक ने मौके का फायदा उठाते हुए नितिन को साथ आने की पेशकश करते हुए कहा कि अगर भाजपा में उन्हे सम्मान नहीं हो रहा है, तो वे कांग्रेस ज्वाइन कर सकते हैं। हार्दिक ने कहा कि मैंने नितिन काका को मैसेज किया था अगर वे कहते हैं कि उन्हें भाजपा छोड़नी है तो मैं उनके साथ रहूंगा।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार