भीषण जल संकट और PHE को चिंता ही नहीं

On Date : 13 September, 2017, 12:41 PM
0 Comments
Share |

झल्लाए कमिश्नर बोले-अब 7 बजे से मैदान में दिखना
प्रदेश टुडे संवाददाता, ग्वालियर

जल संकट झेल रहे शहर में पानी की बरबादी रोकने में निगम महकमा लगातार नाकाम साबित हो रहा है। इस गंभीर मसले को लेकर निगमायुक्त विनोद शर्मा ने पीएचई अमले को कड़ी फटकार लगाई। निगमायुक्त ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अब पीएचई के अधिकारी सुबह 7 बजे से मैदान दिखने चाहिए। अब अगर पानी की बरबादी रोकने में लापरवाही मिली तो जिम्मेदार अधिकारी-कर्मचारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होना तय है।
निगम मुख्यालय पर बीते रोज आयोजित समय सीमा बैठक के दौरान निगम कमिश्नर ने शहर में पानी की बरबादी रोकने के काम में बरती जा रही लापरवाही पर अधिकारियों को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि पानी का अपव्यय और लाइन लीकेज की मरम्मत के काम में लापरवाही बरतने वाले अधिकारी-कर्मचारी को अब कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। शहर में कहीं भी ऐसी स्थिति पाए जाने पर संबंधित के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

जो बर्बादी देखते रहे उनको थमाए नोटिस
 बैठक के दौरान क्षतिग्रस्त वाटर लाइन, लाइन लीकेज और बिना टोंटी के नलों से पानी की बरबादी रोकने में नाकाम रहने वाले उपयंत्रियों को निगमायुक्त ने कारण बताओ नोटिस जारी किए हैं। ये वो लोग हैं जिन्होंने अपने क्षेत्र में जल अपव्यय करने वालों से कोई जुर्माना वसूल नहीं किया। साथ ही मैदानी अधिकारियों और पीएचई के उपयंत्रियों को सुबह सात बजे से अपने-अपने प्रभार वाले इलाकों में निकलकर वाटर सप्लाई की मॉनीटरिंग करने के कड़े निर्देश दिए गए हैं।

यहां खुली रखो आंखें

  • प्रतिबंध के बाद भी नलकूप खनन
  • वाहन धुलाई पर पानी की बरबादी
  • बिना टोंटी के नलों से होती बरबादी
  • लाइन क्षतिग्रस्त होने से फैलता पानी

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार