शर्मनाक! 90 साल के पिता और मां को घर से निकाला

On Date : 06 January, 2018, 9:57 AM
0 Comments
Share |

नई दिल्ली: कर्नाटक में रिश्तों को शर्मसार करता एक मामला सामने आया है. यहां एक बेटी ने अपने 90 साल के पिता और 80 साल की मां को घर से निकाल दिया, जिससे दंपति को मजबूरन हुबली बस स्टैंड पर रहना पड़ा. दो दिनों तक सड़क पर रात गुजारने के बाद जब पुलिस को इसकी सूचना मिली तो उन्होंने मदद करते हुए बुजुर्ग दंपति को सरकारी वृद्धाश्रम पहुंचाया.

जानकारी के मुताबिक, लक्ष्मेश्वर निवासी 90 वर्षीय सूर्यकांत और उनकी 80 वर्षीय पत्नी कमलमा कुछ दिनों पहले हुबली के एक मंदिर आए थे, जहां उन्होंने अपनी सेवाएं दी. इसके बाद वे अपनी बेटी के घर चले गए. लेकिन कुछ समय साथ रखने के बाद उसने उन्हें घर से निकाल दिया.

दंपति के पास कुछ भी नहीं था, ऐसे में उन्होंने हुबली बस स्टैंड पर शरण ली. दो दिनों तक वे वहीं पर रहे. उन्हें वहां देख जब आसपास के लोगों ने उनसे पूछताछ की तो दंपति ने उन्हें पूरी आपबीती सुनाई. बस स्टैंड पर यात्रियों को व्यथा सुनाते देख परिवहन निगम के अधिकारियों और ऑटो चालकों ने भी सूर्यकांत से बात की.

एक अधिकारी ने मीडिया को बताया, ''जब में सुबह आया तो दंपति को ठंड से कांपता हुआ देखा. उनसे बात करने पर पता चला कि उन्हें उनकी बेटी ने घर से निकाल दिया है.''

इसके बाद अधिकारी और ऑटो चालक उन्हें वृद्धाश्रम ले गए. लेकिन अचानक घर से निकाल दिए जाने के कारण सूर्यकांत और उनकी पत्नी के पास आईडी नहीं था, जिस वह से वृद्धाश्रम वालों ने भी उन्हें अपने पास रखने से इनकार कर दिया. ऐसे में दंपति को फिर से बस स्टैंड पर ही शरण लेनी पड़ी.

मामले के बारे में बाद में पुलिस को सूचित किया गया, जिन्होंने सूर्यकांत और उनकी पत्नी को सरकारी वृद्धाश्रम पहुंचाया. पुलिस में वृद्ध दंपति ने कोई शिकायत दर्ज करवाई है या नहीं इस बारे में फिलहाल कोई जानकारी सामने नहीं आ सकी है.

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार