शिमला थप्पड़ कांड: गिरफ्तार भी हो सकती हैं विधायक आशा कुमारी

On Date : 31 December, 2017, 11:12 AM
0 Comments
Share |

शिमला: हिमाचल में कांग्रेस ऑफिस में हुए थप्पड़ कांड पर डलहौजी से कांग्रेस विधायक आशा कुमारी गिरफ्तार भी हो सकती है। यह इसलिए क्योंकि उन पर पुलिसकर्मी की ओर से गैर जमानती मामला दर्ज हुआ है। बेशक शनिवार को आशा कुमारी ने भी महिला पुलिसकर्मी के खिलाफ शिकायत दी है लेकिन वो उनकी शिकायत नहीं थी। पुलिसकर्मी राजवंती की शिकायत पर पुलिस ने थाना सदर में सरकारी कर्मचारी को ड्यूटी में बाधा पहुंचाने और मारपीट करने के आरोप में आईपीसी की धारा 353 व 332 के तहत गैर जमानती मामला दर्ज किया है।


शनिवार को आशा कुमारी ने लिखित शिकायत अपने चालक के माध्यम से थाना सदर शिमला में दी। इसमें आरोप लगाया है कि उसके साथ गालीगलौज हुई। वह सब उस समय हुआ जब उनके साथ पूर्व मंत्री भी मौजूद थे। उसे महिला पुलिसकर्मी ने मीटिंग में जाने से रोका और हाथापाई की। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है और वीडियो फुटेज लिया जा रहा है जिसके कैमरे में वह रिकॉर्ड हुआ है। हालांकि यह वीडियो सोशल मीडिया सहित सभी तरफ फैल चुका है लेकिन पुलिस उस पूरे वीडियो को देखेगी जिससे शुरू से लेकर अंत तक की सारी घटना को जांचा जा सके। ड्यूटी पर तैनात कर्मियों और मौजूद अन्य लोगों के बयानों को भी दर्ज किया जाएगा।


गोल्ड मेडलिस्ट है महिला पुलिसकर्मी
सोशल मीडिया पर चल रहे थप्पड़कांड में लोग महिला पुलिसकर्मी के समर्थन में आ गए हैं। उसे जमकर सहयोग मिल रहा है। इतना ही नहीं उसे लेडी सिंघम तक कहा जा रहा है। राजवंती नेशनल लेवल पर बाक्सिंग कर चुकी हैं। वे वर्ष 2012 में स्पोर्ट्स कोटे से हिमाचल पुलिस में भर्ती हुई थीं। इस समय वे थाना ढली में तैनात हैं। उसने कहा कि मैंने कुछ गलत नहीं किया, वह अपनी ड्यूटी कर रही थी। उसने कहा कि वह इस मामले पर डटी रहूंगी।


कोर्ट में ही हो सकता है समझौता
बता दें कि गैर जमानती मामला दर्ज होने के कारण समझौता अपने स्तर पर नहीं हो सकता। अगर महिला पुलिसकर्मी पर मामला वापस लेने का दबाब बनता है तो समझौता कोर्ट में ही हो सकता है।


ये है मामला
हिमाचल विधानसभा में कांग्रेस की करारी हार हुई है। इसी की समीक्षा को लेकर शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शिमला के राजीव भवन में पार्टी के नेताओं और उम्मीदवारों के साथ बैठक कर रहे थे। इस दौरान 3 से 4 कांग्रेसी विधायक देरी से पहुंचे। इनमें आशा कुमारी भी थीं। क्योंकि राहुल दफ्तर के अंदर आ चुके थे। इसलिए गेट पर पुलिस पास चेक करने के बाद ही लोगों को अंदर जाने दे रही थी। पंजाब कांग्रेस प्रभारी और डलहौजी से कांग्रेस विधायक आशा कुमारी ने जल्दी अंदर जाने की कोशिश की तो वहां मौजूद महिला पुलिसकर्मी ने उन्हें रोक दिया। तभी गुस्से में आशा कुमारी ने महिला कांस्टेबल को थप्पड़ मार दिया। इसका जवाब लेडी कांस्टेबल ने भी उनको थप्पड़ मार कर दिया। घटना के बाद पुलिसकर्मियों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मामले को रफा-दफा करने की कोशिश की। बताया जाता है कि महिला कांस्टेबल शिमला के रोहड़ू की रहने वाली है।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार