8 बजे तक टीआई सस्पेंड करो, वरना कल जबलपुर बंद

On Date : 14 January, 2018, 5:02 PM
0 Comments
Share |

व्यापारी की पिटाई से सदर में गदर, पुलिस के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग

जबलपुर: सदर चौपाटी के समीप शोरूम संचालक और उनके परिजनों को अपराधियों की तरह बेरहमी से पीटने के विवाद में आज सुबह फिर गदर मची। व्यापारियों के साथ आए शहर के भाजपा-कांग्रेस नेताओं ने केंट टीआई प्रफुल्ल श्रीवास्तव के इशारे पर प्रतिष्ठित व्यापारी व उसके परिजनों से मारपीट का आरोप लगाते हुए सदर बाजार बंद कर दिया। एसपी शशिकांत शक्ला को मौके पर बुलाने पर अड़े व्यापारियों ने एएसपी जीपी पाराशर से बातचीत कर इस शर्त पर सदर बंद वापस लिया कि रात 8 बजे तक टीआई को सस्पेंड किया जाए , अन्यथा कल जबलपुर बंद रहेगा। यह ऐलान महाकोशल चेम्बर आॅफ कामर्स के अध्यक्ष रवि गुप्ता, जबलपुर चेम्बर आॅफ कामर्स के अध्यक्ष प्रेम दुबे एवं संस्कारधानी चेम्बर आॅफ कामर्स के अध्यक्ष चमन श्रीवास्तव ने किया।
आज सुबह व्यापारी के खिलाफ प्रकरण दर्ज करने की खबर मिलते ही लोग सड़कों पर उतर आए। शनिवार रात हुए घटनाक्रम से उबले व्यापार व जनप्रतिनिधियों ने घटना के वीडियो फुटेज में प्रतिष्ठित डॉक्टर गोलछा एवं उनके परिजनों सहित बच्चों को पीटने वाले पुलिस कर्मियों पर अपराधिक प्रकरण दर्ज करने की मांग लेकर बाजार बंद कर दिया गया। सीएमपी एमपी प्रजापति भड़के लोगों को समझाइश देते रहे,लेकिन कोई मानने तैयार नहीं था। वहीं आला अधिकारियों ने मामले की गंभीरता को देखते हुए भारी पुलिस बल की तैनाती कर दी।
भड़के व्यापारियों को समर्थन एवं समझाइश देने पहुंचे केंट विधायक अशोक रोहाणी ने व्यापारियों को आश्वस्त किया कि वे एसपी से बात कर समाधान कराता हूं, लेकिन उनकी बात नहीं हो सकी। धीरे-धीरे बढ़ रही भीड़ व आक्रोश के बीच 2 घंटे तक हंगामा होने के बाद एएसपी गुरूप्रसाद पराशर पहुंचे और उन्होने नाराज जनप्रतिनिधियों और व्यापारियों से बात की।  

रूपए लेने का वीडियो है: दावा
व्यापारियों और जनप्रतिनिधियों ने सीएसपी एमपी प्रजापति से कहा कि एकता साहू ने डायल-100 के पुलिस कर्मियों को रूपए देकर शो रूम संचालक और उनके परिजनों को जानवरों की तरह पिटवाया है। व्यापारियों ने कहा कि उनके पास वीडियो फुटेज भी हैं,जिसमें पुलिस वाले महिला से रूपए ले रहे हैंं।  
शासकीय कार्य में बाधा का प्रकरण
आक्रोशित नेताओं और व्यापारियों ने पुलिस के खिलाफ नारे लगाते हुए कहा कि पुलिस ने रात में शोरूम संचालक के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा डालने का प्रकरण दर्ज लिया। पुलिस शोरूम में घुसकर हाथापाई कर रही थी, विरोध कर दिया तो शासकीय कार्य में बाधा कैसे हो गई? व्यापारियोें ने कहा कि व्यापारी पर दर्ज प्रकरण खारिज किया जाए एवं दोषी पुलिस कर्मियों को सेवा से बर्खास्त किया जाए।

गोरखपुर व्यापारी संघ
भी आया सड़क पर
घटना के विरोध में गोरखपुर व्यापारी संघ के अध्यक्ष के साथ समस्त व्यापारी सदर टीआई क्रासिंग पहुंच गए। गोरखपुर व्यापारी संघ के माहेश्हरी ने कहा कि पुलिस ने बेजवह बखेड़ा खड़ा करा दिया। पुलिस द्वारा बर्बरता एवं एफआईआर दर्ज करने के विरोध में विधायक अशोक रोहाणी, विधायक तरूण भनोत, एमआईसी मेम्बर कमलेश अग्रवाल, केंट बोर्ड उपाध्यक्ष चिंटू चौकसे, अमित अग्रवाल,कांग्रेस नेता विश्वमोहन, मुकेश राठौर,अमरचंद बावरिया, पार्षद सुंदर अग्रवाल,हिंदू धर्मसेना के योगेश अग्रवाल सहित कई जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।

सामान्य से विवाद में पुलिस ने व्यापारी से मारपीट करते हुए उसके परिजनों से भी ज्यादती की। टीआई प्रफुल्ल श्रीवास्तव ने झगड़े को शांत कराने का प्रयास नहीं किया। टीआई को सस्पेंड कर मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाए। पुलिस लोगों की सुरक्षा के लिए है, धौंस और गुंडागर्दी के लिए नहीं।
ल्ल तरूण भानोत, विधायक पश्चिम
इस तरह की घटना निंदनीय है, हम व्यापारियों के साथ हैं और पुलिस-प्रशासन से हमारी मांग है कि इसकी निष्पक्ष जांच कराई जाए और इस तरह का घटनाक्रम दोबारा न हो इसका ख्याल रखा जाए। ज्यादती बर्दाश्त नहीं की जा सकती। प्रशासन से बातचीत की जा रही है।
ल्ल अशोक रोहाणी,विधायक केंट
व्यापारियों सहित जनप्रतिनिधियों का कहना है कि पूरे मामले में एकपक्षीय कार्रवाई केंट पुलिस द्वारा की गई है। पूरे मामले में अब तक मिले साक्ष्योें एवं सबूतों के आधार पर जांच कराई जा रही है। मामले में जो भी दोषी होगा कार्रवाई की जाएगी।
ल्ल जीपी पाराशर, एएसपी
...खास-खास...
ल्लसड़क पर लेटे प्रतिष्ठत डॉक्टर
   विमल गोलछा के परिजन
ल्लसंक्राति पर्व पर ग्वारीघाट जाने
   वालों को हुई भारी परेशानी
ल्लछावनी बना केंट,अतिरिक्त बल के
   साथ 5 थाना की पुलिस मौके पर

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार