शासन के आदेश को ठेंगा, तबादले के बाद भी 8 साल से जमा है बाबू

On Date : 13 October, 2017, 2:45 PM
0 Comments
Share |

प्रदेश टुडे संवाददाता.ग्वालियर
लोक निर्माण विभाग का एक बाबू इतना दबंग है कि उसने शासन के तबादला आदेश को ठेंगा दिखाते हुए एक-दो नहीं पूरे 8 साल से उसी सीट पर काट दिए। इसका इतना खौफ है कि अफसर भी कार्रवाई करने से बचते हैं।
लोक निर्माण विभाग के बाबू सुरेंद्र कुमार सहायक ग्रेड-3 का प्रशासनिक तबादला तत्कालीन प्रमुख अभियंता शैलेंद्र शुक्ल के आदेश पर 2009 में लोक निर्माण विभाग ग्वालियर से उत्तर परिक्षेत्र, मुरैना संभाग में कर दिया, लेकिन तत्कालीन चीफ इंजीनियर राजीव शर्मा ने इसे अपनी नजदीकियों के चलते रिलीव नहीं किया। दफ्तर के खबरी का कहना है कि बाबू पूरे लेन-देन का लेखा-जोखा देखता है। इसलिए तत्कालीन चीफ इंजीनियर का उस पर अपना वरदहस्त रखे रखा। उधर खास बात यह है कि 2009 में बाबू के तबादले के बाद विभाग के बड़े अफसरों ने इस बात की जहमत भी नहीं उठाई कि आखिर बाबू को रिलीव क्यों नहीं किया गया। इसको लेकर कोई संशोधन नोटिस तक नहीं भेजा गया। वहीं नए चीफ इंजीनियर को भी बाबू के बारे में सारी जानकारी है, लेकिन वह भी उसे रिलीव करने से बच रहे हैं।

अफसर-बाबू दोनों एक जैसे
चीफ इंजीनियर राजीव शर्मा का तबादला 10 जुलाई 2017 को शासन ने सागर संभाग करते हुए सागर से एमपी सिंह को ग्वालियर भेजा गया। श्री सिंह ने 12 सितंबर को अपनी आमद भी दर्ज करा दी। इसके बाद श्री शर्मा अपना तबादला रद्द कराने हाईकोर्ट पहुंचे जहां उन्होंने दलील दी कि मेरे कार्यकाल को 1 साल बचा है, ऐसे में मुझे ग्वालियर में ही रहने दिया जाए। इस पर शासन ने हाईकोर्ट को बताया कि यह नियम सिर्फ कर्मचारियों के लिए है, अफसरों के लिए नहीं और फिर श्री शर्मा का कार्यकाल एक साल से ज्यादा का बचा है ऐसे में शासन बाध्यकारी नहीं है। दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद होईकोर्ट ने श्री शर्मा का स्टे खारिज कर दिया। इसके बाद श्री शर्मा ने दोबारा हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया, लेकिन इस बार भी उन्हें राहत नहीं मिली। अब श्री शर्मा बीमारी की सूचना देकर घर पर हैं। इसके चलते सागर संभाग के कई काम अटके हुए हैं और रोजाना के कामकाज प्रभावित हो रहे हैं।

इनका कहना है
अभी मैं ट्रांसफर होकर आया हूं। मैं देखूंगा कि मामला क्या है, इसके बाद भी कुछ कह सकता हूं।
एमपी सिंह, चीफ इंजीनियर, लोक निर्माण विभाग, ग्वालियर

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार