सपना चौधरी के कार्यक्रम को लेकर दो गुटों में बंटी बीजेपी

On Date : 12 February, 2018, 2:14 PM
0 Comments
Share |

कानपुर : कानपुर में हरियाणवी स्टेज डांसर और बिग बॉस के शो में शिरकत करने वाली विवादास्पद सपना चौधरी की एक डांस नाइट को लेकर भाजपा में दो गुटों में बंट गई. भाजपा विधायक नीलिमा कटियार और जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र मैथानी समेत कई नेताओं ने सपना नाइट के टिकटों पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तस्वीर छापे जाने को आपत्तिजनक बताया है. वहीं कानपुर की मेयर प्रमिला पाण्डेय ने मीडिया पर तिल का ताड़ बनाये जाने का आरोप लगाया. मेयर ने साफ-साफ कहा कि सीएम की फोटो छापकर बेचे गए टिकटों में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है. यही नहीं उन्होंने शो के लिए नगर निगम का ग्राउण्ड भी मुहैया कराया और हरियाणा की इस नर्तकी के शो का उद्घाटन भी किया.

आपको बता दें कि सपना नाइट पिछले कई दिनों से सुर्खियों में थी. शो से पहले सपना नाइट के टिकटों को लेकर हंगामा मचा तो शो शुरू होने पर जबरदस्त हंगामा, पथराव और लाठी चार्ज हुआ. कार्यक्रम स्थल पर बिना टिकट प्रवेश पाने के चक्कर में सैंकड़ों युवाओं ने सुरक्षा बैरीकेटिंग तोड़ दी. पुलिस ने उन्हें पीछे ढकेला तो टिकट वाले भी चपेट में आ गए. इसके बाद गुस्साई भीड़ ने पथराव कर दिया और कई वाहनों के शीशे तोड़ दिए. जानकारी के मुताबिक गुस्साई भीड़ ने कार्यक्रम स्थल के अंदर कुर्सियां तोड़ीं  तो बाहर वालों ने वहां खड़ी बाइकें. इसके बाद पुलिस ने एक्शन लिया और लाठी चार्ज कर दिया. उसके बाद जो भी पुलिस के हत्थे चढ़ा, उस पर बर्बरता से लाठियां बरसाईं. इस दौरान मुफ्त का पास लेकर आए कुछ सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों के बच्चे भी पिटते और रोते बिलखते देखे गए.

यूपी बोर्ड परीक्षाओं के बावजूद तेज आवाज वाले लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तस्वीरों वाले टिकटों की बिक्री के कारण सपना चौधरी नाइट पहले से विवादों में घिरी थी और शो की शुरुआत भी काफी हंगामेदार रही. गौरतलब है कि सपना चौधरी नाइट का आयोजन कानपुर में यौन रोगों का इलाज करने वाले एक डॉक्टर ने कराया था. हरियाणा की चर्चित डांसर सपना चौधरी के शो की टिकटों पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तस्वीर छपने से राजनीति के गलियारों में भी इस कार्यक्रम की चर्चा रही.

दरअसल, कानपुर के काकादेव इलाके में सेक्स क्लीनिक चलाने वाले डॉ. आनंद झा को कुछ दिन पहले एक सम्मान समारोह में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हाथों प्रशस्ति पत्र हासिल हुआ था. इसी उपलब्धि को सेलिब्रेट करने के लिए डॉक्टर ने हरियाणा की मशहूर डांसर सपना चौधरी का शो आयोजित करवाया था. रविवार को आयोजित सपना नाइट के फ्री पास सूबे की जानी-मानी हस्तियों को भेजे गए थे तो कमाई के लिहाज से लाखों रुपयों की टिकटें बेंची भी गई थीं.

सारा विवाद टिकटों और पासों की डिजाइन को लेकर उपजा था. क्योंकि उन पर योगी आदित्यनाथ को डॉक्टर आनंद झा को सम्मानित करते दिखाया गया था और टिकट के दूसरे भाग में सपना चौधरी की तस्वीर भी थी. सपना नाइट की टिकटों पर मुख्यमंत्री की तस्वीर छापे जाने पर भाजपा नेताओं ने सख्त ऐतराज जताया था और इसे अपने 'भगवाधारी नेता' की छवि के विरूद्ध बताया था. वहीं शहर की मेयर प्रमिला पाण्डेय को इसमें कुछ भी गलत नहीं नजर आया.

हालांकि जिला प्रशासन इस मामले में अपनी जान बचाने की जुगत में लग गया है. अब सपना नाइट की परमीशन देने के लिए जिला प्रशासन और मनोरंजन विभाग के अधिकारी एक-दूसरे पर जिम्मेदारी डाल रहे हैं और मीडिया से बात करने को तैयार नहीं हैं. वहीं ये बात भी कम दिलचस्प नहीं है कि जिस ग्राउण्ड पर ये शो हुआ उसे कानपुर नगर निगम ने मुहैया कराया और निगम पर भाजपा की मेयर प्रमिला पाण्डेय काबिज हैं. ऐसे में विपक्ष इस बात की चुटकी लेने से नहीं चूक रहा है. पूर्व कांग्रेस पार्षद मदन लाल भाटिया ने जी मीडिया से हुई बातचीत में कहा कि शहर में टिकट बिक्री तो कई दिनों से जारी थी तो क्या पहले भाजपा नेता फ्री पास के लिए चुप्पी साधे बैठे थे.

बहरहाल, भाजपा नेताओं की आपत्ति के बावजूद जिला प्रशासन ने विवादस्पद टिकटों की बिक्री पर कोई प्रतिबन्ध नहीं लगाया था. इसी वजह से पच्चीस हजार की दर्शक क्षमता वाले नगर निगम ग्राउण्ड पर अधिक भीड़ पहुंची. जिस वजह से शो के दौरान हंगामा भी मचा और पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा.

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार