आधी रात को माना थाने ले जाए गए विनोद वर्मा

On Date : 29 October, 2017, 8:30 AM
0 Comments
Share |

रायपुर : छत्तीसगढ़ में सीडी कांड को लेकर दर्ज हुए मामले में राज्य की पुलिस पत्रकार विनोद वर्मा को लेकर रायपुर पहुंच गई है. शनिवार आधी रात में विनोद वर्मा को पुलिस के कंट्रोल रूम और सुरक्षित थानों में ले जाने के बजाए एयरपोर्ट के करीब स्थित माना थाने में लाया गया.

इससे पहले कभी भी किसी भी मामले के आरोपी को आउटर के इस थाने में नहीं रखा गया, जबकि अश्लील सीडी को लेकर दर्ज मामले रायपुर शहर के सिविल लाइन और पंडरी थाने में दर्ज हैं. ये दोनों थाने आबादी के बीच ही नहीं शहर के बीचोबीच हैं. यही नहीं पुलिस का सुसज्जित पुलिस कंट्रोल रूम भी सिविल  लाइन में स्थित है. आमतौर पर किसी भी मामले के सुर्खियों में रहने वाले आरोपियों को यही रखा जाता है. लेकिन पत्रकार विनोद वर्मा को शहर के आउटर की थाना में रखने की क्या मंशा है, यह तो छत्तीसगढ़ पुलिस के जिम्मेदार और आला अफसर ही जानें, लेकिन विनोद वर्मा सुरक्षित रूप से इस थाने की ओर पुलिस की गाड़ियों से उतरकर जाते हुए देखे गए.

विनोद वर्मा आधी रात में रायपुर पहुंचे, लेकिन उनके रायपुर पहुंचने के करीब पांच घंटे पहले पीएमओ के निर्देश पर छत्तीसगढ़ सरकार मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश कर चुकी थी. ऐसे में इस बात को लेकर असमंजस है कि राज्य की पुलिस रविवार या सोमवार को पत्रकार विनोद वर्मा को CJM रायपुर अर्थात चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेड की अदालत में पेश करेगी या फिर सीबीआई की अदालत में.

पत्रकार विनोद वर्मा के खिलाफ रायपुर के सिविल लाइन थाने में आईटी एक्ट के धारा के तहत अपराध दर्ज है. साथ ही उनके साथ राज्य की कांग्रेस की इकाई के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल के खिलाफ भी आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है, जबकि रायपुर के ही पंडरी थाने में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ ब्लैकमेलिंग और धमकी देने की धाराओं के तहत अपराध क्रमांक  340 /17  384/ 507 का प्रकरण दर्ज है. इसी मामले में नामजद करके छत्तीसगढ़ पुलिस ने गाजियाबाद जाकर पत्रकार विनोद वर्मा की गिरफ्तारी की थी.

26 अक्टूबर को दर्ज इस FIR पर मात्र चंद घंटो में ही छत्तीसगढ़ पुलिस हवा में उड़कर दिल्ली पहुंची. फिर दिल्ली में एक वीडियो रिकॉर्डिंग की दुकान में पहुंचकर सैकड़ों सीडी बरामद किया और रातोरात गाजियाबाद स्थित पत्रकार विनोद वर्मा के घर पहुंची और वहां से लगभग 500 सीडी बरामद की. यह सीडी राज्य के एक कद्दावर मंत्री की सेक्स सीडी बतायी जा रही है.

रायपुर से दिल्ली की दूरी लगभग 1700 किमी है, हवाई जहाज के जरिए यह दूरी एक घंटा बीस मिनट में देश की तमाम एयरलाइंस पूरी करती हैं, लेकिन छत्तीसगढ़ पुलिस ने इतनी तेजी दिखाई और मात्र तीन घंटे के भीतर गाजियाबाद तक की दूरी  रिकॉर्ड तोड़ समय में तय की. पुलिस की स‍क्रियता यहीं नहीं ख़त्म हुई. उसने फिर सक्रियता दिखाई और जिस वाहन के जरिए गाजियाबाद से दिल्ली तक का सफर तय किया था, उसमें सवार होकर वापस रायपुर के लिए रवाना हुई. हालांकि इस बार सड़क मार्ग से रायपुर पहुंचने में उसे 24 घंटे से अधिक का समय लग गया. 

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार