बरगी डेम से छूटे पानी तो लगेगी नर्मदा में डुबकी

On Date : 13 January, 2018, 2:49 PM
0 Comments
Share |

मकर संक्रांति के लिए जिला प्रशासन के पास नहीं कोई प्लान

जबलपुर: सूर्य उत्तरायण के महापर्व मकर संक्रांति पर कल पुण्य सलिला मां नर्मदा के पावन जल में डुबकी लगाने श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ेगा, लेकिन नर्मदा के जल स्तर को लेकर शासन-प्रशासन में कोई हलचल है इसका अभी अता-पता नहीं है। जिला प्रशासन और बरगी डेम प्रबंधन को इससे लेना-देना नहीं है। खास बात यह है कि नर्मदा नदी में इस समय जल स्तर कम है और डेम के कितने गेट खोल कर कितना पानी सप्लाई किया जा रहा है इसकी जानकारी देने वाला प्रबंधन का लैंड लाइन नंबर बंद पड़ा है। हालत यह है कि तीज-त्योहार के पहले नर्मदा में जलस्तर को लेकर शासन-प्रशासन का न तो कोई निर्धारित प्लान है न ही प्रक्रिया। जिससे यह माना जा रहा है कि यदि डैम से पानी छोड़कर जल स्तर बढ़ाया गया तो श्रद्धालु ढंग से डुबकी लगा सकेंगे।
अभी तक यह होता आ रहा है कि या तो त्योहारों पर नर्मदा का जल स्तर सामान्य से अधिक हो जाता है या सामान्य से भी नीचे चला जाता है। इस मामले पर अधिक जानकारी के लिए कार्यपालन यंत्री बरगी डेम अजय सूरे का मोबाइल भी फिलहाल रिसीव नहीं हो रहा है। उधर इंजीनियर आरआर रोहित का कहना है इस समय डेम  में पानी की आवक 50 क्यूमिक है, जबकि जावक 124 क्यूमिक चल रही है। इस लिहाज से पिछले 24 घंटे में 5.81 क्यूसेक पानी छोड़ा जा चुका है। त्योहार को लेकर न तो अलग से कोई निर्देश हैं न ही कोई प्लान।

मकर संक्र ांति पर नर्मदा घाटों में डुबकी लगाने पहुंचने वाले लाखों श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी न हो इसके लिए पुलिस-प्रशासन ने इस बार पुख्ता इंतजाम किए हैं। ग्वारीघाट- भेड़ाघाट के साथ सभी नर्मदा तटों पर पुलिस बल की अलग-अलग तैनाती के साथ होमगार्ड के गोताखोर एवं नगर सैनिकों की ड्यूटी लगाई है। इसी साथ ट्रैफिक पुलिस के अधिकारियों ने प्लान ‘ए’ और ‘बी’ बनाते हुए आज मौके का निरीक्षण भी किया। इसी प्लान के मुताबिक चार व दो पहिया वाहनों के अलावा पब्लिक ट्रांसपोर्ट को प्रवेश व पार्किंग दी जाएगी।
डीएसपी टैÑफिक मनोज खत्री ने बताया कि मकर संक्रांति के अवसर पर रामपुर चौक के आगे मिनी मेट्रो बसों को छोड़कर कोई भी भारी या 407 वाहन नहीं जा सकेंगे। दो पहिया एवं प्राइवेट कार रामपुर चौक से खंदारीनाला होते हुए अवधपुरी मोड़ तक ही जा सकेंगे। मेट्रो बस सिद्धगणेश मंदिर के पास सवारी उतार कर इसी मार्ग से वापस होंगी। आॅटो खंदारीनाला से रेतनाका होते हुए रामलला मंदिर तक ही प्रवेश करेंगे। इसी तरह गोराबाजार, बिलहरी, तिलहरी एवं बरेला से आने वाले वाहन  पेंटी नाका बंदरिया तिराहा, सदर से रामपुर चौक होते हुए सिद्धगणेश मंदिर पहुंचेगे। भिटौली एवं कालीधाम मार्ग को फिलहाल बंद रखा गया है।
सुबह 4 बजे से पहुंचते हैं श्रद्धालु
ग्वारीघाट के उमा घाट, सिद्ध घाट और नाव घाट पर तड़के 4.30 बजे से भक्तों के आने का क्र म शुरू हो जाता है। पर्व विशेष के शुभ मुहूर्त में 5 बजे से नर्मदा में भक्त स्नान (डुबकी) करना शुरू करेंगे। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि सुबह 10 से दोपहर 1 बजे के बीच ग्वारीघाट के घाटों पर बड़ी संख्या में भक्त स्नान, मां नर्मदा की पूजा-अर्चना, दीपदान करने पहुंचते हैं। वहीं स्नान कर चुके भक्त घाट पर बैठकर तिल-गुड और खिचड़ी का दान भी करते रहते हैं।  
घाट में होमगार्ड तैनात
नर्मदा घाटों में भारी भीड़ होने की आशंका को देखते हुए सभी घाटों में होमगार्ड के साथ-साथ स्थानीय तैराकों को भी तैनात किया गया है। ग्वारीघाट, भेड़ाघाट, तिलवारा, चरगवां, बरगी एवं बरेला थाना प्रभारियों को अपने-अपने क्षेत्र के घाटों में रहने के निर्देश भी दिए गए हैं।
ग्वारीघाट से हट रहे अतिक्रमण
संक्र ांति पर्व को देखते हुए नगर निगम के अतिक्रमण अमले द्वारा आज ग्वारीघाट से अतिक्रमण हटाए जा रहे हैं। अतिक्रमण का प्रभार संभाल रहे राजवीर नयन ने बताया कि कल संक्रांति में ग्वारीघाट में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमडेÞगी, जिसे देखकर घाट को साफ-सुथरा कराने के साथ तखत, ठेले, टपरे आदि हटवाए जा रहे हैं।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार