नई दिल्ली : कर्नाटक में बीजेपी द्वारा फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित नहीं कर पाने के बाद पहली बार बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह सोमवार को मीडिया के सामने आए. पार्टी मुख्यालय पर पत्रकारों से बात करते हुए अमित शाह ने कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन को जनादेश के खिलाफ बताया. उन्होंने कहा कि कर्नाटक में पिछले चुनाव में हमने 40 सीटें हासिल की थीं, अब 104 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरे हैं.

उन्होंने कहा कि पिछले 5 सालों में 3700 से अधिक किसानों ने राज्य में आत्महत्या की. यह कांग्रेस सरकार की सबसे बड़ी विफलता थी. किसान, मजदूर, बेरोजगारी और दलित उत्पीड़न जैसे मुद्दों को लेकर हम कर्नाटक चुनाव में उतरे. कांग्रेस के ज्यादातर मंत्री चुनाव हारे, उनके मुख्यमंत्री खुद एक सीट पर चुनाव हार गए और जिस सीट से जीते, उस पर भी बहुत कम अंतर से उन्होंने जीत हासिल की. इससे स्पष्ट है कि कर्नाटक में जनादेश कांग्रेस के खिलाफ आया है.

सरकार बनाने के दावे पर उन्होंने कहा कि लोग कह रहे हैं कि बहुमत नहीं आने के बाद भी बीजेपी ने सरकार बनाने का दावा किया. अमित शाह ने कहा कि राज्य में किसी भी दल को पूर्ण बहुमत नहीं मिला है, इसका मतलब यह नहीं है कि वहां फिर से चुनाव कराए जाएं. उन्होंने कहा कि जनता ने बीजेपी को पसंद किया और बीजेपी ने सबसे ज्यादा सीटों पर जीत हासिल कीं. उन्होंने कहा कि 13 सीटों पर हम नोटा से भी कम वोटों से हारे हैं. इससे साफ है कि कर्नाटक की जनता ने बीजेपी को जनादेश दिया है. हम दक्षिण में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरे हैं, मैजिक फिगर से हम सिर्फ 7 सीटों से पीछे रहे हैं.

अमित शाह ने कहा कि इन चुनावों में एक अच्छी बात यह है कि कांग्रेस का अब लोकतांत्रिक संस्थाओं में विश्वास बढ़ने लगा है. कांग्रेस को अब ईवीएम अच्छी लगने लगी है. न्यायपालिका में विश्वास बढ़ा है, अब चुनाव आयोग भी अच्छा लग रहा है. उन्होंने कटाक्ष किया कि बस यही विश्वास कांग्रेस को हार के वक्त भी बना रहे.

कांग्रेस बनी PPP पार्टी
कांग्रेस पर आरोपों की बौछार करते हुए अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस नेता के घर में फर्जी वोटर कार्ड बनाने का भंडाफोड़ हुआ. कांग्रेस आज कर्नाटक में जीत का जश्न मना रही है. उन्होंने कहा, 'क्या मंत्रियों के हारने, मुख्यमंत्री के हारने, सत्ता से बाहर होने का कांग्रेस जश्न मना रही है.'  उन्होंने कहा कि कांग्रेस अब पीपीपी पार्टी बनकर रह गई है. यह अब पंजाब, पुडुचेरी और परिवार की पार्टी बनकर रह गई है.

बहुमत के लिए नहीं मांगे 7 दिन
बहुमत के लिए 7 दिन का समय मांगे जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि येदियुरप्पा ने बहुमत साबित करने के लिए 7 दिन का समय नहीं मांगा था. यह तो कांग्रेस ने कोर्ट में झूठ फैलाया था. उन्होंने कहा कि जब बीजेपी ने सरकार का दावा पेश किया, उस वक्त अपना दावा लेकर कोई भी दल सामने नहीं आया.

गोवा-मणिपुर में कांग्रेस ने नहीं किया दावा
गोवा और मणिपुर में सरकार के दावों के सवाल पर उन्होंने कहा, हम पर गोवा और मणिपुर में बीजेपी गठबंधन द्वारा दावा पेश करने के आरोप लग रहे हैं, मैं यहां साफ कर देना चाहता हूं कि इन राज्यों में सबसे बड़ा दल होने के बाद भी कांग्रेस ने कोई भी दावा पेश नहीं किया था. इसके बाद राज्यपाल को दूसरे सबसे बड़े दल को सरकार बनाने के लिए न्योता देना पड़ा.'