नई दिल्ली: कर्नाटक में बीएस येदियुरप्पा की अगुवाई वाली बीजेपी सरकार गिरने के बाद एचडी कुमारस्वामी कांग्रेस+जेडीएस की गठबंधन सरकार बनाने की तैयारियों में जुटे हैं, वहीं दूसरी तरफ अखिल भारत हिंदू महासभा ने इन्हें रोकने के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. अखिल भारत हिंदू महासभा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर कहा है कि कांग्रेस और जेडीएस का गठबंधन असंवैधानिक है. साथ ही याचिका में कहा गया है कि कोर्ट तत्काल एचडी कुमारस्वामी की सरकार के गठन पर रोक लगा दे. एचडी कुमारस्वामी 23 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे.

मालूम हो कि कर्नाटक विधानसभा में किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है. बीजेपी 104 सीटों के साथ पहले नंबर की पार्टी रही तो कांग्रेस 78 और जेडीएस के खाते में 37 सीटें आई हैं. चुनाव बाद राज्याल वजुभाई वाला ने सबसे बड़ा दल होने के नाते बीजेपी को सरकार बनाने का न्योता दिया था और बहुमत साबित करने के लिए 15 दिनों का वक्त दे दिया था. इसके बाद कांग्रेस+जेडीएस खेमे ने रात ढाई बजे सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटा दिया था.

सुप्रीम कोर्ट ने बीएस येदियुरप्पा को 24 घंटे के भीतर विधानसभा में बहुमत साबित करने को कहा था. साथ ही पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराने का आदेश था. इसके बाद फ्लोर टेस्ट थोड़ी देर पहले ही बीएस येदियुरप्पा ने विधानसभा से सीएम पद से इस्तीफा देने का ऐलान कर दिया था. इसके बाद राज्यपाल वजुभाई वाला ने एचडी कुमारस्वामी की अगुवाई में जेडीएस+कांग्रेस गठबंधन को सरकार गठन का न्योता दिया है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि वह कर्नाटक में कांग्रेस-जेडी(एस) गठबंधन सरकार के शपथग्रहण समारोह में शामिल होंगे. राहुल ने ट्वीट किया, "एच.डी. कुमारस्वामी के साथ दिल्ली में इस शाम मेरी अच्छी और सौहाद्र्रपूर्ण मुलाकात हुई. हमने कर्नाटक के राजनीतिक हालात और आपसी हित के अन्य मुद्दों पर चर्चा की. मैं कर्नाटक के मुख्यमंत्री के रूप में बेंगलुरू में उनके शपथग्रहण समारोह में बुधवार को हिस्सा लूंगा."

उल्लेखनीय है कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव में त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति सामने आने के बाद कांग्रेस और जद(एस) ने चुनाव बाद गठबंधन बनाया है. भाजपा 104 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी, लेकिन वह बहुमत से दूर रह गई. कांग्रेस को 78 सीटें मिलीं, जबकि जद(एस) ने 37 सीटों पर जीत दर्ज की.