नई दिल्ली : राजधानी से नवजात बच्चे के चोरी होने की घटना ने अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं। उत्तरी दिल्ली नगर निगम के अस्पताल से एक महिला सरेआम चार दिन की नवजात बच्ची को चुरा कर फरार हो गई और किसी को इसकी भनक तक नहीं लगी। बच्चा चुराने की यह वारदात अस्पताल में लगे सीसीटीवी में कैद हो गई। पुलिस ने मामला दर्ज कर महिला और बच्चे की तलाश शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार वजीरपुर जेजे कालोनी निवासी रेशमा ने 22 मई को बाड़ा हिंदुराव अस्पताल में बच्ची को जन्म दिया था। उसके बगल के बेड पर न्यू मस्तफाबाद की रहने वाली फिरदौस नाम की महिला भी भर्ती थी। इस दौरान दोनों के बीच दोस्ती भी हो गई। फिरदौस बच्ची को गोद में लेकर घूमती रहती थी। घटना के दिन वह बच्ची को नर्सरी में दिखाने के बहाने ले गई। ढाई घंटे बांद जब फिरदौस नहीं लौटी तो अस्पताल प्रशासन से पूछताछ की गई जिसके बाद मालूम हुआ कि वह बच्चे को लेकर फरार हो गई।

सब्जी मंडी पुलिस को तुरंत इसकी जानकारी दी गई। पुलिस जांच में पता चला कि फिरदौस ने अस्पताल में जो पता का लिखवाया था वह फर्जी है। पुलिस को शक है कि आरोपित महिला सोची समझी योजना के तहत अस्पताल में भर्ती हुई थी। फिलहाल CCTV फुटेज के सहारे महिला को तलाशने की कोशिश की जा रही है।