मुंबई : महाराष्ट्र के पालघर लोकसभा सीट पर 28 मई को होने वाले उपचुनाव को लेकर बीजेपी और शिवसेना में तलवारें खिंची हुई हैं. दोनों पार्टियां एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रही हैं. मजेदार बात यह है कि दोनों की प्रदेश में गठबंधन सरकार है. ऑडियो क्लिप कांड के बाद तो दोनों दलों के एक दूसरे की शिकायत चुनाव आयोग से करने की बात कर रहे हैं. इसी बीच, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस शिवसेना सांसद संजय राउत के 'कुत्ता' वाले बयान पर पलटवार किया है. उन्होंने कहा, "हम संजय राउत जैसे लोगों को तवज्जों नहीं देते. पूरा देश जानता है कि किसको अहंकार हो गया है." गौरतलब है कि बीजेपी सांसद चिंतामन वांगा की मौत के बाद फिर से चुनाव कराए जा रहे हैं.

दरअसल, शनिवार को शिवसेना के विरिष्ठ नेता तथा सांसद संजय राउत ने मुख्यमंत्री पर अभद्र टिप्पणी की थी. राउत ने कहा था, "मुख्यमंत्री में इस समय अहंकार भरा हुआ है. हम सबने देखा है कि राजनीति में आने के बाद सभी में अहंकार आ जाता है, यहां तक कि एक कुत्ता भी सत्ता में आने के बाद खुद को शेर समझने लगता है." शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा था, "विरोधी दल के खिलाफ ऐसी भाषा का इस्तेमाल एक मुख्यमंत्री को शोभा नही देता."

ऑडियो क्लिप पर घमासान
चुनाव से पहले शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का एक ऑडियो क्लिप जारी किया है, जिसमें वह बीजेपी कार्यकर्ताओं से चुनाव जीतने के लिए कथित तौर पर हर तौर-तरीका अपनाने की अपील करते सुनाई दे रहे हैं. उद्धव ठाकरे ने पालघर में एक रैली को संबोधित करते हुए ऑडियो क्लिप जारी किया. फडणवीस को क्लिप में कहते सुना जा रहा है, ‘पालघर में यदि कोई हमारे वजूद को चुनौती दे रहा है और हमसे विश्वासघात कर रहा है, हमारा सहयोगी बताते हुए हमारे पीठ में छुरा मारा है, तो उन्हें सबक सिखाया जाना चाहिए. हमें अब चुप नहीं बैठना चाहिए. हमें बड़ा हमला करना चाहिए और उन्हें दिखा देना चाहिए कि बीजेपी क्या है.’ उन्होंने कथित तौर पर कहा, ‘यदि हम इस चुनाव को जीतना चाहते हैं, तो उसी तरह का जवाब देना होगा. साम, दाम, दंड, भेद’ का इस्तेमाल कर जवाब दें. किसी की धौंस बर्दाश्त नहीं करें. उलटा उन पर धौंस जमाएं, मैं आपके पीछे खड़ा रहूंगा.’

बीजेपी चुनाव आयोग से करेगी शिवसेना की शिकायत
बीजेपी ने आरोप लगाया है कि शिवसेना कल होने जा रहे पालघर लोकसभा उपचुनाव से पहले मतदाताओं के बीच पैसा बांटने के लिए कुछ अपराधियों की मदद ले रही है और वह चुनाव आयोग से इसकी शिकायत करेगी. बीजेपी नेता रवींद्र चव्हाण ने कहा, "बीजेपी चुनाव आयोग से शिकायत करने जा रही है कि शिवसेना ठाणे, मुम्बई और कल्याण से 1000 लोगों को लायी है जो चुनाव प्रचार खत्म हो जाने के बाद भी पालघर में अवैध रुप से ठहरे हुए हैं." उन्होंने कहा, "उनमें अपराधी भी शामिल हैं. ये लोग पैसा बांट रहे हैं."