नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के कैराना लोकसभा उपचुनाव में 73 मतदान केंद्रों पर बुधवार आज (बुधवार को) दोबारा वोट डाले जा रहे हैं. इन 73 मतदान केंद्रों पर सुबह 7 बजेे से पुन: मतदान शुरू हो गया, जोकि शाम 6 बजे तक चलेगा.

नकुड़ की 23, गंगोह की 45, थाना भवन की 1, शामली की 4 पोलिंग बूथ पर पुन: मतदान हो रहा है. राज्य निर्वाचन आयोग ने दोबारा 73 बूथों पर मतदान कराने की सिफारिश चुनाव आयोग से की थी. कैराना उपचुनाव में वीवीपैट मशीनों में खराबी आई थी. इस वजह से इन सीटों पर बुधवार (30 मई) मतदान हो रहा है. आपको बता दें कि सोमवार (28 मई) को देश की 4 लोकसभा और 10 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए मतदान हुआ था. कई जगह ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतें मिली थीं. उपचुनाव के नतीजे 31 मई को घोषित होने वाले हैं.

#KairanaByPoll : Repolling underway at 73 polling stations, Visuals from booth no.85 in in Shamli pic.twitter.com/eqPztrIOM2

— ANI UP (@ANINewsUP) May 30, 2018

कैराना में ईवीएम खराब होने पर विपक्षी दलों ने सरकार द्वारा ईवीएम में गड़बड़ी करने के आरोप लगाए थे. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष तथा पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने चुनाव आयोग से मांग की थी कि ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतों पर चुनाव आयोग तुरंत कार्रवाई करे. चुनाल आयोग को लिखे पत्र में उन्होंने शामली, कैराना, गंगोह, नकुड, थानाभवन ईवीएम खराब होने की शिकायत की थी.

शामली, कैराना, गंगोह, नकुड, थानाभवन और नूरपुर के लगभग 175 पोलिंग बूथों से EVM-VVPAT मशीन के ख़राब होने की शिकायत तुरंत सुनी जाए. pic.twitter.com/PKeofl6VX6

— Akhilesh Yadav (@yadavakhilesh) May 28, 2018

उन्होंने अपने एक ट्वीट में कहा, 'आज कहा जा रहा है कि गर्मी के कारण EVM मशीन काम नहीं कर रही है, कल कहेंगे बारिश और ठंड की वजह से ऐसा हो रहा है. कुछ लोग जनता को लाइन में खड़ा रखकर अपनी सत्ता की हनक दिखाना चाहते हैं. हम पेपर बैलेट वोटिंग की मांग को एक बार फिर दोहराते हैं.' उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, 'सुना है उपचुनावों में EVM ख़ास तौर पर गुजरात से मंगाए गए थे. लगता है सूरत अब सिर्फ़ कपड़े बनाने का ही नहीं, सरकार बनाने का भी काम करने लगा है.

सुना है उपचुनावों में EVM ख़ास तौर पर गुजरात से मँगाए गए थे. लगता है सूरत अब सिर्फ़ कपड़े बनाने का ही नहीं, सरकार बनाने का भी काम करने लगा है.

— Akhilesh Yadav (@yadavakhilesh) May 29, 2018

आज कहा जा रहा है कि गर्मी के कारण EVM मशीन काम नहीं कर रही है, कल कहेंगे बारिश और ठंड की वजह से ऐसा हो रहा है. कुछ लोग जनता को लाइन में खड़ा रखकर अपनी सत्ता की हनक दिखाना चाहते हैं. हम पेपर बैलेट वोटिंग की माँग को एक बार फिर दोहराते हैं. #BackToBallotSaveDemocracy #NoToEVM

— Akhilesh Yadav (@yadavakhilesh) May 28, 2018

शिकायत के बाद केंद्रीय चुनाव आयोग का कहा कि ईवीएम में गड़बड़ी नहीं थी. वीवीपैट में खराबी की शिकायत मिली है. विपक्ष के एक प्रतिनिधिमंडल ने लखनऊ और दिल्ली स्थित निर्वाचन आयोग में शिकायती पत्र सौंपते हुए पुनर्मतदान और मतदान की अवधि बढ़ाने की अपील की थी. इसके बाद बीजेपी का भी एक प्रतिनिधिमंडल ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत को लेकर चुनाव आयोग पहुंचा और पुनर्मतदान की मांग की थी