नई दिल्ली : पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने मोदी सरकार पर विपक्ष के नेताओं को निशाना बनाने का आरोप लगाया है. चिदंबरम ने यह आरोप ऐसे समय लगाया है, जब आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने चिदंबरम को सीबीआई की गिरफ्तारी से तीन जुलाई तक अंतरिम राहत दी है.

कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की किताब के लोकार्पण के दौरान चिदंबरम ने कहा, 'सरकारें अपनी पूर्ववर्ती सरकारों के खिलाफ कार्रवाई के साथ अपने काम की शुरुआत करती हैं, लेकिन मुझे यह याद नहीं कि वाजपेयी सरकार ने अपने पूर्व की सरकार के खिलाफ कोई कार्रवाई की हो. यूपीए सरकार ने भी अपने पूर्व की वाजपेयी सरकार के खिलाफ बदले की भावना से कोई कार्रवाई नहीं की.' चिदंबरम ने कहा, 'सबसे बड़ा मुद्दा यह कि पिछले तीन सालों में मुकदमेबाज़ी बढ़ी है.'

पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री ने मोदी सरकार के कामकाज पर सवाल उठाए. उन्होंने कहा, 'आज सरकार फैसले लेने में बिल्कुल विफल साबित हो रही है. अगर आज हम फैसला नहीं पाते हैं तो इसका मतलब है कि हम सबसे कमजोर बिंदु पर खड़े हैं.' वहीं सलमान खुर्शीद ने कहा, 'अभी जो लोग सरकार में हैं, उन्हें लगता है कि वे व्यवस्था को दूषित बनाकर हमेशा सत्ता में बने रहेंगे.'

गौरतलब है कि आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में सीबीआई चिदंबरम के खिलाफ जांच कर रही है. इस केस में उन्हें गुरुवार को दिल्ली हाईकोर्ट से तीन जुलाई तक गिरफ्तारी से अंतरिम राहत मिल गई.

चिदंबरम ने एयरसेल-मैक्सिस मामले में गिरफ्तारी से बचाव के लिए अदालत में याचिका दायर की थी. जांच एजेंसी ने इस मामले में पूछताछ के लिए उन्हें तलब किया था.