नई दिल्ली : युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने जबर्दस्त बल्लेबाजी करते हुए वेस्टइंडीज-A के खिलाफ पहले अनधिकारिक (अनऑफिशियल टेस्ट) चार दिवसीय टेस्ट मैच की दूसरी पारी में 188 रन ठोक दिए हैं.

एक समय मुश्किल में फंसी इंडिया-A 18 साल के पृथ्वी शॉ की बदौलत मजबूत स्थिति में पहुंच गई है. पहली पारी में पिछड़ने वाली इंडिया-A ने दूसरी पारी में शानदार वापसी की है, जिसका श्रेय पृथ्वी को जाता है.

पहली पारी में शून्य पर आउट होने के बाद पृथ्वी शॉ ने दूसरी पारी में आक्रामक बल्लेबाजी की. पृथ्वी ने दूसरी पारी में 169 गेंदों पर 188 रन ठोक दिए, अपनी पारी में पृथ्वी ने 28 चौके और 2 छक्के लगाए.

खबर लिखे जाने तक इंडिया-A ने दूसरी पारी में 2 विकेट गंवा कर 398 रन बना लिये हैं. इंडिया-A अपनी पहली पारी में 133 रनों पर सिमट गई थी, जिसके जवाब में वेस्टइंडीज-ए ने पहली पारी 383 रन बनाकर 250 रनों की बढ़त हासिल की. इंडिया-A इस समय वेस्टइंडीज-A से 147 रन आगे है.

पृथ्वी शॉ की बात करें, तो यह उनका फर्स्ट क्लास क्रिकेट में छठा शतक होने के साथ-साथ सबसे बड़ी व्यक्तिगत पारी भी है. इस दौरे पर इंडिया-A के लिए पृथ्वी शॉ ने अब तक 70, 132, 7, 27, 105, 15, 0, 188 रनों की पारी खेली है.