अहमदाबादः पाटीदार अरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल और गुजरात के विधायक अल्पेश ठाकोर तथा जिग्नेश मेवाणी पर पुलिस ने एक घर में जबरन घुसने तथा अन्य आरोपों में मामला दर्ज किया है। उन्होंने कथित तौर पर एक घर पर ‘‘छापेमारी’’ की जहां उनका दावा है कि शराब अवैध रूप से संग्रहित की गई थी।

कांग्रेस विधायक ठाकोर ने निर्दलीय विधायक मेवाणी तथा पटेल एवं एक दर्जन से अधिक समर्थकों के साथ वृहस्पतिवार को एक महिला कंचनबेन मकवाना के घर पर ‘‘छापेमारी’’ की और दावा किया कि वे वहां से संचालित कथित ‘‘ शराब अड्डे ’’ का भंडाफोड़ करना चाहते थे। यह घर गांधीनगर पुलिस अधीक्षक कार्यालय के नजदीक स्थित है। मकवाना ने गांधीनगर सेक्टर 21 थाने में शिकायत दर्ज कराई है। शिकायत में कहा गया है कि तीनों अपने समर्थकों के साथ महिला के घर में ऐसे समय में घुसे जब वहां कोई पुरुष सदस्य नहीं था।

Gujarat: An FIR has been filed by a woman alleging that Hardik Patel, Alpesh Thakor and Jignesh Mevani illegally entered her house in Gandhinagar, accusing her of selling alcohol.

— ANI (@ANI) July 7, 2018

पुलिस निरीक्षक वी एन यादव ने बताया कि शिकायत में कहा गया है, ‘‘उन्होंने दो देशी शराब के पाउच उसके घर में रख दिए ताकि साबित किया जा सके कि यह शराब का अड्डा है।’’ यादव ने कहा, ‘‘ मकवाना ने अपनी शिकायत में कहा कि वह शराब नहीं बेचती और उसके घर से बरामद दो पाउच घर में घुसे लोगों ने वहां रख दिए।’’ गुजरात में 1960 से ही शराब बंदी है जिसके तहत शराब के संग्रहण, बिक्री और उपभोग पर पाबंदी है