इंफाल : मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने आज कहा कि एक भूमिगत संगठन ने मणिपुर विश्वविद्यालय के कुलपति आद्य प्रसाद पांडेय से पांच करोड़ रुपये मांगे हैं। उधर , कुलपति को हटाने की मांग को लेकर छात्रों और शिक्षकों का आंदोलन आज 43 वें दिन में प्रवेश कर गया। सिंह ने यहां संवाददाताओं से कहा कि राज्य सरकार के पास पांडेय को एक भूमिगत संगठन द्वारा भेजे गये रंगदारी पत्र की प्रति है जिसमें उनसे पांच करोड़ रुपये की मांग की गई है। मणिपुर विश्वविद्यालय केन्द्रीय विश्वविद्यालय है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुलपति ने केन्द्र को बताया है कि वसूली पत्र और वर्तमान आंदोलन ‘‘ एक दूसरे से संबंधित ’’ है क्योंकि उन्होंने भूमिगत संगठन द्वारा मांगी गयी रकम नहीं दी है। आंदोलनरत छात्रों और शिक्षकों के संघों ने कुलपति पर ‘‘ वित्तीय अनियमितता ’’, विश्वविद्यालय में अहम पद भरने में ‘‘ नाकामी ’’ और ‘‘ अक्षम ’’ प्रशासनिक कामकाज का आरोप लगाया है।