उज्जैन : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा महाकाल की नगरी उज्जैन से रवाना हो गई है। यात्रा को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। मुख्यमंत्री चौहान का जन आशीर्वाद यात्रा रथ पहले चरण में 300 किमी के सफर पर बढ़ेगा। पहले दिन यात्रा शहर के उत्तर विधानसभा क्षेत्र स्थित इंदिरानगर चौराहे पर विराम लेगी। दूसरे दिन बड़नगर से शुरू होकर बदनावर होते रतलाम पहुंचेगी।

इससे पहले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और सीएम शिवराज सिंह सभास्थल नानाखेड़ा पहुंचे और उन्होने सभास्थल पर मौजूद विशाल जनसमुदाय को संबोधित किया। उज्जैन पहुंचने पर अमित शाह और शिवराज सिंह महाकालेश्वर मंदिर गए और भगवान महाकाल की आराधना की।

दो चरणों में होगी यात्रा
पहले हफ्ते में इस यात्रा में दो चरण होंगे। पहले हफ्ते में सीएम शिवराज 11 विधानसभाओं को संबोधित करेंगे। जन आशीर्वाद यात्रा उज्जैन से शुरू होकर नागौद में खत्म होगी। इस यात्रा के दौरान सीएम शिवराज प्रदेश भर में पार्टी की योजनाओं का बखान करेंगे।

230 विधानसभाओं का दौरा करेंगे CM
यात्रा के माध्यम से मुख्यमंत्री 55 दिन में प्रदेश की सभी 230 विधानसभाओं में रथ लेकर जाएंगे। 2008 और 2013 में विधानसभा चुनाव के पहले शिवराज उज्जैन से ऐसी ही यात्राएं कर चुके हैं। 2008 में भाजपा ने इसे विकास यात्रा नाम दिया था।

उज्जैन में अपने संबोधन में अमित शाह ने कांग्रेस नेताओं पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि महाराजाओं और धनपति के सहारे सरकार नहीं बनती। उन्होंने कहा कि ये शिवराज सिंह चौहान की हिम्मत है कि वे 14 साल तक मुख्यमंत्री रहने के बाद भी जनता को हिसाब देने निकले हैं। उन्होंने कांग्रेस नेताओं को चुनौती देते हुए कहा कि यात्रा में कांग्रेस के नेता आंकड़े लेकर विकास के मामले में मुख्यमंत्री से चर्चा कर लें। उन्होंने शिवराज के एक बार फिर मुख्यमंत्री बनने का दावा करते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में इस बार 200 से ज्यादा सीटों के साथ भाजपा की सरकार बनगी।

किसानों के जरिए शाह ने कांग्रेस पर साधा निशाना
शाह ने किसानों को लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य देने का उल्लेख करते हुए गांधी परिवार पर प्रहार किया। उन्होंने कहा कि 55 साल देश में एक परिवार ने राज किया, लेकिन किसानों पर ध्यान नहीं दिया। यह काम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने किया।