जयपुर: प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लेकर हलचलें तेज हो गई हैं. कांग्रेस ने भी इन चुनावों को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं. इसी सिलसिले में राहुल गांधी ने शनिवार को अशोक गहलोत की उपस्थिति में प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट और प्रदेश प्रभारी के साथ बैठक कर चुनावी रणनीति पर चर्चा की. राहुल गांधी से चर्चा के बाद प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ये साफ कर दिया कि राजस्‍थान में कांग्रेस किसी पार्टी से गठबंधन नहीं करेगी. उनका इशारा बीएसपी को लेकर था. सचिन पायलट ने कहा कि हमारी पार्टी राजस्‍थान के सभी विधानसभा सीटों पर भाजपा को शिकस्‍त देने में सक्षम है.

प्रदेश में दूसरी पार्टियों से गठबंधन को लेकर सचिन पायलट ने राज्‍य में किसी अन्‍य पार्टी के साथ गठजोड़ या सीट बंटवारे को लेकर सभी संभावनाओं को खारिज कर दिया. उन्‍होंने कहा कि हम गठबंधन को लेकर किसी पार्टी विशेष से बात नहीं कर रहे हैं. सचिन पायलेट नें ये भी कहा कि राहुल गांधी के साथ हुई बैठक में हमने उन्हें सभी परिस्थितियों से अवगत करा दिया है, जिनके तहत चुनाव होंगे.

खबरों के मुताबिक कांग्रेस पार्टी साल के अंत में होने वाले तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक समीकरण तैयार करने में जुट गई है. कांग्रेस तीनों राज्यों में सत्ता की वापसी के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है. कांग्रेस के लिए ये विधान सभा चुनाव आने वाले 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए भी काफी महत्व रखता है.

बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ विपक्ष का महागठबंधन बनाने के कांग्रेस के प्रयासों को पार्टी के भीतर से ही चुनौती का सामना करना पड़ रहा है. हाल ही में पार्टी को अपनी कई राज्यों की इकाईओं से ही काफी असंतोष का सामना करना पड़ा. वहां राज्य नेतृत्व गठबंधन के विकल्पों को लेकर काफी बंटा हुआ है. लेकिन अगर जल्दी ही कांग्रेस पार्टी नें इन समस्याओं का निपटारा नही किया तो पार्टी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं.