Safflower को हिंदी में 'कुसुम के फूल' भी कहा जाता है। इसके बीजों से निकला तेल किसी औषधि से कम नहीं है। ये बीज सेहत को ठीक रखने के साथ ही बालों और चेहरे की खूबसूरती बढ़ाने का काम भी करता है। इसमें पाए जाने वाले गुण पिंपल्स से राहत दिलाने से लेकर रंग निखारने में भी सहायक है। इसके अलावा भी कुसुम के फूल का तेल लगाने के कई फायदे होते हैं तो आइए जानते हैं उनके बारे में। 

1. पिंपल्स से राहत
सैफ्लावर के फूल में लिनोलिक एसिड होता है जो पिंपल्स से राहत दिलाने के काम करता है। जिन लोगों के चेहरे पर पिंपल्स निकल आते हैं। उनके लिए कुसुम के फूल बहुत फायदेमंद है। रात को सोने से पहले चेहरे को अच्छे से धो लें। फिर इस फूल का तेल चेहरे पर लगा लें। सुबह उठने के बाद चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।

2. रंग निखारे
इस तेल में पाए जाने वाले गुण स्किन को सूरज की किरणों के प्रभाव से बचाने के साथ ही रंग को निखाने का भी काम करता है। रोजाना कुछ दिनों तक इस तेल को चेहरे पर लगाने से आपको फर्क दिखाई देने लगेगा।

3. स्किन को बनाएं सॉफ्ट
सैफ्लावर में विटामिन ई की ऊच्च मात्रा पाई जाती है जो झुर्रियों को कम करने काम करती है। किसी भी फेसपैक में सैफ्लावर की कुछ बूंदे मिलाकर चेहरे पर लगाएं। कुछ दिनों तक इस पैक को लगाने से स्किन सॉफ्ट होने लगेगी।

4. घाव भरना
चोट के निशान या घाव को भरने के लिए सैफ्लावर ऑयल बहुत फायदेमंद हैं। घाव वाली जगह पर तेल लगाएं। कुछ दिनों तक इस ऑयल को लगाने से घाव भरने शुरू हो जाएंगे।

5. मजबूत बाल
सैफ्लावर में लोइेक एसिड पाया जाता है जो बालों और स्कैल को नई जान देने का काम करता है। हफ्ते में एक बार इस तेल से सिर की मसाज करने पर बाल लंबे होने लगते हैं।