रायपुरः छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में आज नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के दो जवान शहीद हो गए जबकि एक अन्य घायल हो गया। पुलिस उपमहानिरीक्षक (नक्सल विरोधी अभियान) सुंदरराज.पी. ने बताया कि परतापौर थाना अन्तर्गत बीएसएफ के महला शिविर के नजदीक एक जंगल में यह मुठभेड़ उस समय शुरू हुयी जब बीएसएफ का 114 वां बटालियान माओवादी विरोधी एक अभियान से वापस लौट रहा था। उन्होंने बताया कि जब सीमा सुरक्षा बल का गश्त दल राजधानी रायपुर से करीब 250 किलोमीटर दूरी बरकोट गांव में जंगल के रास्ते आगे बढ़ रहा था उसी समय नक्सलियों के एक समूह ने उस पर गोलीबारी कर दी जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई।

उन्होंने बताया कि संक्षिप्त मुठभेड़ के बाद उग्रवादी घने जंगल में भाग गए। उन्होंने बताया, ‘‘मारे गए दोनों कांस्टेबल की पहचान लोकेन्द्र सिंह और मुखथियार सिंह के रूप में की गई है जो क्रमश : राजस्थान और पंजाब के रहने वाले थे जबकि मुठभेड़ में घायल एक अन्य कांस्टेबल संदीप डे हैं।’’ उन्होंने बताया कि सहायक दल घटनास्थल पर पहुंच गई है और पखनजोरे में बीएफएफ के 114वें बटालियन के मुख्यलय में शवों को लाया गया। डीआईजी ने बताया कि घायल जवान को आगे के इलाज के लिए विमान से रायपुर ले जाया गया है। नौ जुलाई को कांकेर के छोटेबेथिया इलाके में नक्सलियों के आईईडी विस्फोट में एक मोटर साइकिल पर गश्ती कर रहे बीएसएफ के दो जवानों की मौत हो गई। ये जवान 121 वें बटालियन से संबद्ध थे।