देशभर में महिलाओं के खिलाफ अत्याचार रुकने का नाम नहीं ले रहे. अब उत्तर प्रदेश के संभल इलाके से स्तब्ध कर देने वाली घटना सामने आई है. यहां एक 35 साल की महिला को उसके घर के पास ही स्थित मंदिर के हवनकुंड में जिंदा जला दिया गया. अब तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है. ऐसा बताया जा रहा है कि महिला के साथ गैंगरेप की कोशिश हुई, लेकिन रेप में असफल रहने पर उसे मंदिर की यज्ञशाला में जलाकर मार डाला गया.

पीड़िता के पति का कहना है कि जिंदा जलाए जाने से कुछ ही मिनट पहले महिला ने 100 नंबर पर डायल कर पुलिस से मदद मांगी थी. लेकिन पुलिस की तरफ से कोई जवाब नहीं मिला और न ही पुलिस मौके पर पहुंची. घटना शनिवार-रविवार की रात करीब 2.30 बजे घटी बताई जा रही है.

पुलिस ने बताया घटना शनिवार को तड़के राजपुरा पुलिस थाना क्षेत्र में पड़ने वाले एक गांव में घटी. पीड़िता का पति गाजियाबाद में मजदूरी कर परिवार का पेट पालता है और उनके दो बच्चे हैं. पीड़िता के परिवार वालों ने पांच लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कराई है.

पुलिस का कहना है कि शनिवार को तड़के महिला अपने घर में सोई हुई थी, जब बदमाश उसके घर में घुस आए. बदमाश सो रही पीड़िता को उठाकर पास में ही स्थित एक मंदिर में ले गए और उसके साथ हैवानियत करने की कोशिश की.

पुलिस जहां अभी महिला के साथ गैंगरेप की पुष्टि नहीं कर रही, वहीं पीड़िता के पति का आरोप है कि बीती रात पांच बदमाश उसके घर में जबरन घुस आए और उसकी पत्नी के साथ गैंगरेप किया गया. गैंगरेप के बाद महिला ने पुलिस से मदद मांगने की कोशिश की, लेकिन 100 नंबर पर उसे कोई जवाब नहीं मिला.

इसके बाद पीड़िता ने अपने चचेरे भाई को भी फोन कर अपनी आपबीती सुनाई. पीड़िता और उसके चचेरे भाई के बीच हुई बातचीत का ऑडियो क्लिप भी सामने आ गया है, जिसमें पीड़िता अपने साथ रेप की बात बता रही है.

हालांकि इस बीच पुलिस या पीड़िता का चचेरा भाई मदद के लिए कुछ कर पाता, बदमाश फिर से घर में दाखिल हुए और महिला को घसीटते हुए मंदिर में ले गए. बदमाशों ने सबूत नष्ट करने के मकसद से मंदिर में बने हवनकुंड में महिला को जिंदा जलाकर मार डाला.

पुलिस का कहना है कि पांचों आरोपी उसी गांव के रहने वाले हैं और उनकी पहचान कर ली गई है. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट में ADG के हवाले से बताया गया है कि पुलिस ने मौका ए वारदात से अहम सबूत जुटा लिए हैं, जिसमें पीड़िता की आखिरी कॉल का रिकॉर्ड भी शामिल है.

एडीजी का कहना है कि महिला ने चचेरे भाई को किए आखिरी कॉल में पांचों आरोपियों का नाम भी लिया है. इस कॉल रिकॉर्ड में महिला ने अपने साथ रेप की बात भी कही है. FIR दर्ज होने के बाद पुलिस ने मामले की जांच के लिए दो टीमें गठित की हैं और आरोपियों की धरपकड़ शुरू कर दी है.