नई दिल्ली: अगले साल होने वाले आम चुनाव में कांग्रेस की ओर से पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को गैर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गठबंधन का प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार पेश किए जाने के एक दिन बाद ही सोमवार को इस मुहिम को उस समय बड़ा समर्थन मिला जब पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा ने कहा कि इसके लिए उनकी पार्टी को कोई आपत्ति नहीं है। कांग्रेस कार्यसमिति की रविवार को दिल्ली में हुई बैठक में गांधी को गैर भाजपा गठबंधन का प्रधानमंत्री पद का चेहरा बनाकर आम चुनाव लडऩे की घोषणा की गई थी।

जनता दल (सेक्युलर) के प्रमुख देवेगौड़ा ने एक निजी चैनल से बातचीत में कहा कि उनकी पार्टी को गांधी को प्रधानमंत्री स्वीकार करने में कोई दिक्कत नहीं है और वह इसके लिए पूरी तरह तैयार है। हाल ही में कर्नाटक विधानसभा के त्रिशंकु नतीजों के बाद जनता दल (एस) ने कांग्रेस के सहयोग से राज्य में एच डी कुमारस्वामी की अगुवाई में गठबंधन सरकार बनाई है।

पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा, गांधी को प्रधानमंत्री स्वीकार करने में जनता दल (एस) किसी प्रकार दुविधा में नहीं है।  कार्यसमिति की बैठक के बाद कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं को बताया था सभी वक्ताओं ने एक स्वर में गांधी के नेतृत्व में पार्टी को आगे बढ़ाने पर जोर दिया था और आम चुनाव में गांधी की अगुवाई में गठबंधन के नेतृत्व का समर्थन किया था।