नई दिल्लीः डोकलाम में भूटान के इलाकों में जबरदस्ती सड़क बनाने की कोशिशों के बाद एक बार फिर से चीनी सैनिकों ने भूटान के एक इलाके पर अपना दावा जताने की कोशिश की है ,रिपोर्ट के मुताबिक डोकलाम के नजदीक पसमुलंग के एक भूटानी सेना के पोस्ट पर चीनी सैनिकों ने अपने झंडे के साथ फोटो खिचवाई है. रिपोर्ट के मुताबिक पिछले महीने 20 जून के दिन पीएलए (पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी यानि चीनी सेना) की एक पेट्रोलिंग पार्टी जिसमें 6 अधिकारी और 14 चीनी सैनिके थे उन्होनें भूटानी सेना के पसमुलंग पोस्ट में दाखिल होकर चीनी झंडे के साथ फोटो खिंचवाई.

चीनी सैनिकों ने ऐसा इसलिए किया ताकि वह ये दावा कर सके कि ये चीन का इलाका है. यही नहीं चीनी सैनिकों ने रायल भूटान आर्मी के जवानों से ये भी जानने की कोशिश की कि भारतीय सेना के जवान किन किन इलाकों में तैनात हैं.

देखा जाये तो चीन भूटान के कई इलाकों पर अपना दावा जताता रहा है चीनी सैनिक अक्सर भूटान के इलाकों में दाखिल होकर भूटानी सैनिकों को उनके ही इलाकों से पीछे हटने का दवाब बनाते रहते हैं  डोकलाम में ऐसे ही चीनी सैनिकों की दादागिरी की वजह से भारतीय सेना ने भूटान में बन रहे सड़क के एक निमार्ण को रोक दिया था जिससे चीन और भारत के रिश्ते बेहद खराब हो गये थे

चीन और भूटान के बीच 1988 और 1998 में हुए एक एग्रीमेंट के मुताबिक दोनों देशों ने अपने सीमा पर शंति विराम का समझौता किया हुआ है लेकिन पिछले कुछ सालों से चीन लगातार भूटान के इलाके में सड़क से लेकर अक्रामक पेट्रोलिंग करने में लगा हुआ है जिससे भूटान पर दवाब बनवाया जा सके.