नई दिल्ली: आने वाले दिनों में रेलवे स्टेशन के एसी वेटिंग रूम में रुकने पर यात्रियों से चार्ज वसूला जाएगा। नई दिल्ली और निजामुद्दीन स्टेशन के एसी वेटिंग रूम को पायलट योजना के तहत निजी हाथों में दिया जाएगा। यात्रियों से प्रति घंटा के हिसाब से चार्ज वसूलने को लेकर रेट तय कर दिया गया। दिल्ली डिविजन से मिली जानकारी के अनुसार दोनों स्टेशन पर पायलट योजना के तहत यह काम शुरू किया जाएगा। इसके तहत यात्रियों से एसी वेटिंग रूम में व्यस्क यात्रियों से 10 रुपए प्रति घंटा जबकि 5 से 12 वर्ष के बच्चों से 5 रुपए प्रति घंटा के हिसाब से चार्ज वसूला जाएगा।

सेकेंड क्लास वेटिंग रूम में नहीं लिया जाएगा कोई चार्ज
रेल अधिकारियों का मानना है कि न्यूनतम चार्ज वसूलने और निजी हाथों में देने से इसका रखरखाव बेहतर होगा और यात्रियों की शिकायतें भी दूर होगी। जबकि सेकेंड क्लास वेटिंग रूम में कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा। ऐसे एसी वेेटिंग रूम में रेलवे कर्मचारी बिना कोई शुल्क दिए एक घंटे तक रह सकते हैं। इसके बाद यात्रियों की तरह इनसे भी पैसे वसूले जाएंगे।

 पांच वर्ष के लिए निजी हाथों में दिया जाएगा एसी वेटिंग रूम
अधिकारियों के अनुसार नई दिल्ली स्टेशन और निजामुद्दीन स्टेशन पर एसी वेटिंग रूम को पांच वर्ष के लिए निजी हाथों में दिया जाएगा। इसके लिए टेंडर भी दिया जा चुका है। निजी हाथों में दिए जाने के बाद ऐेसे एसी वेटिंग रूम में यात्रियों को बेहतर फर्नीचर, एलईडी, न्यूजपेपर से लेकर पानी तक की सुविधा दी जाएगी। ऐसे वेटिंग रूम में अलग से बेबी केयर रूम भी होगा। इसके अलावा इसमें कैफेटेरिया भी होगा। पांच साल के ठेके के विस्तार देने और यात्रियों के फीडबैक अच्छा मिलने पर शुल्क में बढ़ोत्तरी भी की जा सकती है।