आपने अक्सर लोगों को कहते सुना होगा कि ज्यादा मीठा मत खाओं, डायबिटीज हो जाएगी। मगर क्या सच में ऐसा होता है या ये सिर्फ एक मिथ है? हालांकि, डायबिटीज में डॉक्टर मीठा न खाने की सलाह जरूर देते हैं लेकिन क्या जिन्हें ये समस्या नहीं है उन्हें भी मीठा खाने से परहेज करना चाहिए?

आपको बता दें कि ऐसा बिल्कुल नहीं है। नार्मल ब्लड शुगर वाले लोगों के लिए मीठा  खाने और डायबिटीज में कोई कनेक्शन नहीं है। डायबटिज के कई मरीज ऐसे हैं जो मीठा नहीं खाते बल्कि कुछ लोग तो ऐसे भी होते हैं जिन्हें बिल्कुल भी मीठा पसंद नहीं लेकिन फिर भी वह इस बीमारी की चपेट में आ जाते हैं।

दरअसल, डायबिटीज होने का कारण इंसुलिन की कमी या इंसुलिन रेजिस्टेंस है, मीठा खाना नहीं। मगर इसका ये मतलब नहीं कि डायबिटीज होने के बाद भी शुगर खाना उसी मात्रा में बरकरार रखा जाए। डायबिटीज के मरीज मिठाई डॉक्टर की सलाह से खा सकते हैं। इसके साथ ही मिठास के लिए शक्कर की जगह एस्पार्टेम (कम कैलोरी वाला स्वीटनर) का उपयोग करना इनके लिए फायदेमंद है।

डायबिटीज दो तरह की होती है टाइप A और टाइप B। जब शरीर का इम्यून सिस्टम इंसुलिन पैदा करने वाली कोशिकाओं को खत्म कर देता है तो उसे टाइप ए डायबिटीज कहा जाता है। वहीं, जब शरीर इंसुलिन पैदा करने में समर्थ नहीं होता तो उसे टाइप बी डायबिटीज कहा जाता है। मगर दोनों तरह की डायबिटीज का मीठा खाने से कोई संबंध नहीं है। WHO के अनुसार अगर आप दिनभर में 6 चम्मच शुगर का सेवन कर रहे हैं तो आपको घबराने की जरूरत नहीं। क्योंकि शुगर की इतनी मात्रा से शरीर को कोई नुकसान नहीं होता है।

डायबिटीज के कारण
1. डायबिटीज रोग मोटापे के कारण हो सकता है। ज्यादा जंक फूड या शुगर खाने से शरीर का वजन बढ़ जाता है, जिससे आप इस बीमारी चपेट में आ जाते हैं। अगर आप इन चीजों का सेवन करते हुए भी अपना वजन कंट्रोल में रखेंगे तो डायबिटीज की समस्या से बचे रहेंगे।

2. कम सोने वाले लोगों में भी शुगर होने के चांस बढ़ जाते हैं। कभी-कभी कम सोना तो नार्मल बात है लेकिन अगर आप लगातार अपनी नींद पूरी नहीं कर रहे हैं तो सावधान हो जाएं। ऐसे लोगों को शुगर की बीमारी जल्दी अपना शिकार बनाती है।

3. डॉक्टर्स का मानना है कि ज्यादा तनाव में रहने पर शरीर का शुगर लेवल बढ़ जाता है। अगर आप लगातार तनाव या अवसाद जैसी स्थिति से घिरे रहते हैं तो आप शुगर की चपेट में आ सकते हैं।

4. जो लोग दिनभर ऑफिस में कुर्सी पर बैठकर काम करते हैं और बिल्कुल भी व्यायाम नहीं करते उन लोगों में डायबिटीज होने के खतरा 80% बढ़ जाता है।

5. जंक फूड्स में काफी मात्रा में फैट और ऑयल होता है, जो आपको शुगर की मरीज बना सकता है। इसलिए जितना हो सके जंक और फास्ट फूड से दूर रहें।