लखनऊ : यूपी में 24 घंटे बिजली के लिए योगी सरकार जबर्दस्‍त व्‍यवस्‍था कर रही है. दरअसल, एमप्लस एनर्जी सोल्यूशंस ने यूपी में वित्त वर्ष 2021 तक 2,000 करोड़ रुपये के निवेश की योजना बनाई है. यह निवेश उत्तर प्रदेश सरकार की सौर नीति 2017 के तहत किया जाएगा और इसमें कंपनी 400 मेगावॉट की सौर क्षमता स्थापित करेगी. गुरुग्राम स्थित मुख्यालय वाली कंपनी एमप्लस सोलर ने यह घोषणा रविवार को लखनऊ में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित एक समारोह में की थी. कंपनी के मुख्य परिचालन अधिकारी गुरु इंद्र मोहन सिंह ने कहा कि प्रदेश के मिर्जापुर में स्थापित की जाने वाली सौर ऊर्जा परियोजना से पर्यावरण के प्रति जागरूक उद्योगों को हरित ऊर्जा प्रदान की जाएगी

उन्होंने कहा, "हमने फरवरी में उत्तर प्रदेश सरकार के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए थे. हस्ताक्षर के 5 महीने के भीतर परियोजना तैयार है. सरकार के अभूतपूर्व समर्थन और सभी स्तरों पर त्वरित प्रतिक्रिया के कारण यह संभव हो गया है."

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बयान में कहा, "उत्तर प्रदेश, देश के विकास का इंजन है, देश की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है, जिसकी विकास दर तेज है। गंगा के उर्वर किनारों के इर्द-गिर्द स्थित यह राज्य असीमित अवसरों से भरपूर है. मेरी सरकार की निवेशक अनुकूल नीति और सुशासन की पहलों से हम राज्य को पसंदीदा निवेश गंतव्य के रूप में बदलने में कामयाब होंगे."

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को लखनऊ में 60 हजार करोड़ रुपये की 81 परियोजनाओं का शिलान्‍यास किया था. इस कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद रहे. ये परियोजनाएं फरवरी 2018 में आयोजित यूपी इन्वेस्टर्स समिट में आए 4 लाख 68 हजार करोड़ के निवेश का हिस्सा हैं.