मुंबई: मराठा आरक्षण की मांग को लेकर तेज होते आंदोलन के बीच महाराष्ट्र में मंगलवार को एक व्यक्ति ने आत्महत्या कर ली जबकि आठ अन्य ने खुदकुशी की कोशिश की.  पुलिस ने बताया कि मराठवाड़ा क्षेत्र के बीड़ जिले के वीदा गांव के 35 वर्षीय अभिजीत देशमुख ने अपने घर के समीप एक पेड़ से फांसी लगा ली. उन्होंने बताया कि मराठवाड़ा क्षेत्र के लातूर जिले में मराठा आंदोलन की मांग को लेकर आ‍ठ प्रदर्शनकारियों ने अपने शरीर पर किरोसिन छिड़ककर आत्मदाह की कोशिश की.

मराठा समुदाय के लोगों ने कहा है कि राज्य की भाजपा नीत सरकार प्रदर्शनकारियों के खिलाफ दर्ज आपराधिक मामलों को वापस लेने में ‘विफल’ रही है और इसके खिलाफ बुधवार को वे मुंबई में प्रदर्शन करेंगे. बीड के पुलिस अधीक्षक जी श्रीधर ने कहा, ‘हमें एक सुसाइड नोट मिला है जिसमें उसने बताया कि वह मराठा आरक्षण की मांग के समर्थन में यह कदम उठा रहा है.’ सुसाइड नोट में देशमुख ने बेरोजगारी और बैंक के बकाये कर्ज को आत्महत्या की वजह बताया है.

मराठा आरक्षण के मुद्दे पर राज्य में आत्महत्या का यह पांचवां मामला है. पुलिस ने बताया कि मराठा आरक्षण की मांग को लेकर नांदेड जिले में 29 जुलाई को 38 वर्षीय व्यक्ति ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी. मुंबई से करीब 570 किलोमीटर दूर नांदेड के धाबाद गांव में काचरू कल्याणे ने अपने घर में पंखे से फांसी लगा ली. कल्याणे ने उस समय फांसी लगाई जब 29 जुलाई को उसके घर के सदस्य कुछ काम से बाहर गए हुए थे. उन्होंने बताया कि कल्याणे के शव के समीप मिले सुसाइड नोट में लिखा है कि वह आरक्षण के लिए मराठा समुदाय की मांग को लेकर अपनी जिंदगी खत्म कर रहा है.

पुलिस ने बताया कि इस मुद्दे पर 29 जुलाई को औरंगाबाद में एक चलती ट्रेन के सामने कूदकर 35 वर्षीय व्यक्ति ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी. पिछले सप्ताह औरंगाबाद में दो व्यक्तियों ने आत्महत्या की थी जबकि एक अन्य की आंदोलनकारियों की हिंसा के दौरान मौत हो गई थी.

लातूर के पुलिस अधीक्षक शिवाजी राठौड़ ने बताया कि लातूर जिले के औसा में तहसीलदार कार्यालय के बाहर आठ लोगों ने आत्मदाह की कोशिश की लेकिन पुलिस ने समय पर हस्तक्षेप करते हुए उनके इस प्रयास को विफल कर दिया. उन्होंने बताया कि प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया गया.अधिकारी ने बताया, 'हम लोगों ने उन्हें आश्वस्त किया कि हम उनकी मांगों को सरकार के समक्ष उ‍ठाएंगे, इसके बाद हमने उन्हें जाने दिया.'

सकल मराठा मोर्चा के नेता प्रवीण पटेल ने बताया कि मराठा समुदाय के लोग मंगलवार को मुंबई में जेल भरो आंदोलन का आयोजन करेंगे. मराठा संगठनों ने कहा कि उनकी आरक्षण की मांग के समर्थन में नौ अगस्त को मुंबई में एक महारैली की जाएगी.