बलराम नायक/गरियाबंद/छत्तीसगढ़ः गरियाबंद जिला में मैनपुर विकासखंड का पायलीखंड हीरा खदान विश्व विख्यात है. यहां करीबन 40 एकड़ जमीन पर हीरा का अनमोल रत्न का भंडार है. पर इन अरबो-खरबों की संम्पति के लिए सरकार ने एक चौकीदार की भी व्यवस्था नहीं की है. आलम यह है कि हीरा खदान में खुलेआम हीरा की लूट मची हुई है. यहां जमकर हीरे की अवैध खुदाई की जा रही है. शासन प्रशासन के नुमांईदे जान बुझकर इस ओर ध्यान नही दे रहे हैं. हालांकि पुलिस प्रशासन ये दावा कर रहा है कि खदान एरिया सुरक्षित है और अवैध खुदाई नहीं हो रही है पुलिस की सर्चिंग टीम लगातार समय-समय पर गश्त करती है और यहां पायली खंड के नाम से जुगाड में नया थाना खोल दिया गया है और जब जब अवैध खुदाई की सुचना मिलती है तुरन्त कार्यवाही की जाती है.

ओडिशा सीमा से लगा हुआ है पायलीखंड
बता दें पायलीखंड गरियाबंद मुख्यालय से 120 किमी दूरी में है. मैनपुर और देवभोग विकासखंड के बीच घने जंगल और पहाड़ियों से घिरा हुआ है साथ ही ओडिशा सीमा से लगा हुआ है. इस क्षेत्र में हमेशा नक्सलियों की आवागमन बनी रहती है. जिसमें ओडिशा राज्य कमेटी और मैनपुर नुआपाड़ा सोनाबेडा संयुक्त डिवीजन कमेटी विशेष रुप से सक्रिय है. हांलाकि पुलिस का कहना है कि सर्चिंग आपरेशन के दबाव में ये नक्सली इस क्षेत्र में टिक नही पा रहे हैं. पुलिस बल और सीआरपीएफ की संयुक्त पार्टी इलाके में लगातार सर्चिंग करती रहती है.

हीरा खदान एरिया कोई नहीं मिलता
पुलिस का कहना है कि जब-जब वे इस क्षेत्र में सर्चिंग करते हैं. हीरा खदान एरिया कोई नहीं मिलता है. वहीं हीरा खदान में हो रही अवैध हीरा खुदाई के मामले में नेता प्रतिपक्ष टी एस सिंहदेव ने सरकार पर जबरदस्त हमला बोलते हुए कहा है "कि हीरा खदान की सुरक्षा करने में सरकार विफल है, एक हीरा खदान की सुरक्षा सरकार नही कर पा रही है तो छत्तीसगढ़ की जनता की सुरक्षा क्या करेगी."

सुबह से ही हीरा तस्करों का लग जाता है मेला
जानकारों के मुताबिक सुबह सात बजे से लोग हीरा की खुदाई करने में लग जाते हैं. उसके बाद ग्रामीण खोदी गई मिट्टी को बोरियों में भरकर नदी में ले जाकर धोते है उसमें से जो पत्थर और कन्कड़ निकलते हैं उनमें फिर हीरों की तलाश की जाती है. किस्मत के धनी को हीरा मिलता है जिसे वह तस्करों के हांथों बेच देता है और जिनको हीरा नही मिलता वो फिर से अगले दिन की खुदाई के लिए निकल पडते हैं. ये सिलसिला वर्षों से यहां चला आ रहा है. एक तरह से यहां पर निवास करने वाले लोगों के लिए यही दिनचर्या बन गया है.

पायलीखंड में इतना हीरा कि पूरे देश का कर्ज चुका सकती है सरकार
बता दें मैनपुर के पायलीखंड का हीरा विश्व का सबसे बेशकीमती हीरा है और यह खदान देश के सबसे बड़े हीरा खदानों में से एक है. पर आज यह खदान लुटने के कगार पर है और शासन प्रशासन चैन की नींद सो रहा है. जानकारों की मुताबिक पायलीखंड में इतना हीरा है कि सरकार उसका दोहन कर महज छत्तीसगढ़ ही नही बल्कि पूरे देश का वर्ल्ड बैंक से लिये कर्ज चुका सकती है. पर फिर भी शासन प्रशासन की सुस्त रवैय्या के चलते हीरे का दोहन नही हो पा रहा है और हीरे की तस्करी जोरों पर की जा रही है, लेकिन सरकार विफल साबित हो रही है.