कोलकाता: बीजेपी की प्रदेश इकाई ने कोलकाता पुलिस से अपील की है कि 11 अगस्त को शहर में होने वाली पार्टी अध्यक्ष अमित शाह की रैली के दौरान निगरानी रखने के लिए ड्रोन उड़ाने की अनुमति दी जाए. जून महीने में पश्चिम बंगाल के मिदनापुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली के दौरान एक टेंट गिर जाने की घटना के बाद बीजेपी पूरी तरह सावधानी बरत रही है.

बीजेपी ने पुलिस से शनिवार को होने वाली शाह की रैली में वाकी-टाकी के इस्तेमाल की भी अनुमति मांगी है. बता दें मिदनापुर में 16 जून को रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के दौरान तंबू का एक हिस्सा जमींदोज होने के बाद 90 से अधिक लोग घायल हो गए थे.

'अप्रिय घटना से बचने के लिए एहतियातन कदम उठा रहे हैं'
पश्चिम बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ‘हमने शनिवार को अमित शाह की रैली में एक ड्रोन के इस्तेमाल के लिए कोलकाता पुलिस से अनुमति लेने के लिए आवेदन किया है. ड्रोन से हमें रैली क्षेत्र में और उसके आसपास गतिविधियों पर नजर रखने में मदद मिलेगी. यह महज सुरक्षा कारणों से है.’ उन्होंने कहा कि पार्टी किसी अप्रिय घटना से बचने के लिए एहतियातन कदम उठा रही है.

घोष ने कहा,‘हमने शनिवार की रैली के लिए वाकी-टाकी की अनुमति भी मांगी है जिससे जमीनी हालात पर नजर रखने में मदद मिलेगी.’ हालांकि कोलकाता पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस मुद्दे पर कोई निर्णय नहीं हुआ है.

उन्होंने कहा, ‘हमने बीजेपी के अनुरोध पर अभी कोई फैसला नहीं किया है. ड्रोन के उपयोग के लिए अनुमति देने से पहले एक विस्तृत रिपोर्ट जरूरी है जिसमें कारण बताए गए हों.’’ घोष ने कहा कि कोलकाता पुलिस राजनेता के तौर पर शाह के कद को देखते हुए शनिवार की रैली में पूरी तरह पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था रखेगी.