रोहिंग्या शरणार्थियों को लेकर दुनिया भर में मचे बवाल के बीच जम्मू-कश्मीर में चौंकाने वाली घटना सामने आई है. मिली जानकारी के अनुसार, जम्मू के चन्नी हिम्मत इलाके में रोहिंग्याओं की झुग्गी बस्ती से पुलिस ने 30 लाख रुपये कैश बरामद किये हैं.

इतनी बड़ी रकम रोहिंग्याओं के पास कैसे आई और इसका क्या इस्तेमाल होने वाला था इस बारे में फिलहाल जांच जारी है

पुलिस के मुताबिक, उन्हें यह टिप मिली थी कि रोहिंग्याओं की एक झुग्गी में बड़ी मात्रा में कैश है. जब पुलिस ने छापा मारा तो 30 लाख रुपये कैश मिला. यह पूरा कैश एक कचरे के ढेर के नीचे कंटेनर और एक सूट केस में रखा था. कैश मिलने के बाद पुलिस ने पूछताछ के लिए तीन लोगों को हिरासत में लिया है.

सूत्रों का कहना है कि हिरासत में लिए गए आरोपी इस्माइल और नूर आलम की उम्र 19 और 21 वर्ष क्रमशः है. दोनों कुछ दिन पहले ही बांग्लादेश से लौटे हैं.

हालांकि, पूछताछ में दोनों युवक यह नहीं बता पाए कि बिना पासपोर्ट के वो भारत में इतनी बड़ी रकम लेकर कैसे पहुंचे. सूत्रों का तो यह तक कहना है कि दोनों पिछले 6 साल से जम्मू में रह रहे हैं.

शक जताया जा रहा है कि क्या इतनी बड़ी रकम का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों और ह्यूमन ट्रैफिकिंग में तो नहीं हो रहा था. मालूम हो कि म्यांमार से निकाले जाने के बाद रोहिंग्या दुनिया भर में ठिकाना खोज रहे हैं. कुछ समय पहले इन्हें लेकर देश की सुरक्षा पर भी सवाल खड़े हुए थे.

जम्मू चेंबर ऑफ़ कॉमर्स, जम्मू एंड कश्मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी समेत कई राजनीतिक दल रोहिंग्याओं को देश के लिए खतरा बताते हुए उन्हें बाहर निकालने की मांग कर चुके हैं.