मुंबई : 9 अगस्त  को मराठा आरक्षण की मांग को लेकर हुए आंदोलन में मराठावाडा के आठ जिलों में से लगभग 5000 प्रदर्शनकारीओं के खिलाफ केस दर्ज हुआ है. शुक्रवार तक 41 लोगों को हिरासत में लिया चुका था. मराठा आरक्षण की मांग को लेकर औरंगाबाद में हुए आंदोलन मे अब तक 41 लोगों को पुलिसने हिरासत में लिया है. 9 अगस्त के आंदोलन में औरंगाबाद के साथ पूरे मराठावाड़ा में हिंसा की घटना हुई थी. रेल रोके को लेकर चार हजार लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुए हैं.

औरंगाबाद के वालुज में तोड़फोड़ और आगजनी के मामले में वालूज पुलिस ठाणे में सात आपराधिक मामले दर्ज हुए हैं. इस प्रकरण में अब तक 1500 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. 41 लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है.

उस्मानाबाद में 35 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. लातूर में तीन जगह पर पत्थरबाजी की घटना हुई थी. इसमें 27 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किए गए. परभणी जिले में 44 लोगोंके खिलाफ केस दर्ज किए गए. बीड जिले में 32 लोगों के खिलाफ गाड़ियों पर पत्थरबाजी कें करना, आगजनी और सड़क यातायात रोकेने के मामले में केस दर्ज किया गया. वहीं नांदेड में 300 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया, जिसमें 9 अगस्त के बंद के दौरान इन पर आगजनी, पत्थरबाजी करने का मामला दर्ज किया गया है. जालना जिले में दो मामलों में 22 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.