मौसम में बदलाव आने के कारण लोग सबसे पहले वायरल फीवर की चपेट में ही आते हैं। जिसकी खास वजह प्रतिरोधक क्षमता का कमजोर होना है। एंटी बायोटिक दवाइयों से वायरल फीवर को जल्दी कंट्रोल किया जा सकता है लेकिन बाद में इससे शारीरिक कमजोरी का भी अहसास होने लगता है। अगर घरेलू नुस्खे अपनाए जाएं तो कुदरती हर्ब के जरिए भी इस वायरल फीवर से जल्दी राहत पाई जा सकती है।

1. तुलसी

तुलसी में कुदरती एंटीबायोटिक गुण पाए जाते हैं। जिससे शरीर में मौजूद वायरस कुदरती तरीके से दूर होने लगता है। सुबह खाली पेट 1 गिलास पानी में 3 तुलसी के पत्ते उबाल कर गुनगुना होने पर पीएं। इससे जल्दी आराम मिलेगा।

2. मेथी
मेथी भी वायरल इंफैक्शन को दूर करने में बहुत कारगर है। इसमें मौजूग औषधीय गुण प्रतिरोधक क्षमता मजबूत करने का काम भी करते हैं। रात को एक कप पानी में आधा चम्मच मेथी के दाने भिगोकर सुबह इसे छान कर पी लें। इसमें आप शहद भी मिला सकते हैं।

3. धनिया
धनिया किसी भी तरह के बुखार से जल्दी राहत दिलाने का काम करता है। एक गिलास पानी में थोड़ा सा सूखा धनिया डाल कर उबाल लें। इस पानी को छानकर इसमें थोड़ा-सा दूध और चीनी मिला कर पीने से आराम मिलता है।

4. गिलोय
यह बहुत लाभकारी हर्ब माना जाता है। बुखार के अलावा और भी बहुत से रोगो में गिलोय फायदेमंद है। गिलोय को पानी में भिगो कर इसका सेवन करने से वायरल फीवर ठीक हो जाता है।