वॉशिंगटनः चीन में प्रवेश की खातिर वहां के सेंसर युक्त सर्च इंजिन पर गूगल के कथित तौर पर काम करने के विरोध में कंपनी के एक हजार से अधिक कर्मचारियों ने पत्र लिख अपनी नाराजगी जताई है। न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर के मुताबिक कर्मचारी अधिक पारर्दिशता की मांग कर रहे हैं ताकि अपने काम के नैतिक निहितार्थों को समझ सकें। टाइम्स के पास पत्र की प्रति है। इस पर 1,400 कर्मचारियों के हस्ताक्षर हैं।      

पत्र में कहा गया है कि सर्च इंजिन की परियोजना और चीन की सेंसरशिप जरूरतों को स्वीकार करने के प्रति गूगल का रूझान ‘‘ आवश्यक नैतिक और आचार संबंधी मुद्दों’’ को उठाता है।

इस महीने की शुरुआत में रिपोर्ट आई थी कि गूगल गोपनीय तरीके से एक सर्च इंजिन बना रहा जो चीन में प्रतिबंधित सामग्री को फिल्टर करेगा और इस तरह बीजिंग के सख्त सेंसरशिप नियमों का पालन करेगा। गूगल ने आठ वर्ष पहले सेंसरशिप और हैकिंग मुद्दों के चलते चीन से अपने सर्च इंजिन को हटा लिया था।  बताया जाता है कि नई परियोजना का नाम कोड नाम ‘ड्रैगनफ्लाई’ है।