नयी दिल्ली : दिल्ली की एक अदालत ने कांग्रेस नेता शशि थरूर को संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव कोफी अन्नान के निधन पर उनके परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करने और बाढ़ग्रस्त केरल के लिए अंतरराष्ट्रीय मदद मांगने के लिए जिनेवा जाने की मंजूरी दे दी है।    
 

अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट समर विशाल ने आज थरूर को यात्रा करने की मंजूरी दे दी। थरूर के वकील ने दलील दी थी कि नेता ने संयुक्त राष्ट्र में अन्नान के अधीन 10 वर्ष तक काम किया है और अन्नान उनके मार्गदर्शक थे।अन्नान का शनिवार को निधन हो गया था।
 

थरूर की ओर से पेश हुए वरिष्ठ वकील विकास पाहवा और वकील गौरव गुप्ता ने अदालत से कहा कि थरूर बाढ़ग्रस्त केरल के लिए संयुक्त राष्ट्र के जरिए अंतरराष्ट्रीय सहायता भी मांगेंगे।तिरुवनंतपुरम के सांसद अपनी पत्नी सुनंदा पुष्कर की हत्या के मामले में नियमित जमानत पर हैं।
 

न्यायाधीश ने कहा, ‘‘मैं अर्जी को मंजूरी दे रहा हूं। जांच अधिकारी को अपने कार्यक्रम की जानकारी दें।’’वकील ने कहा कि थरूर आज शाम को रवाना होंगे और कल वापस लौट आएंगे।गौरतलब है कि सुनंदा पुष्कर 17 जनवरी 2014 की रात दिल्ली के एक लक्जरी होटल के सुइट में मृत पाई गई थीं। उस समय थरूर के आधिकारिक बंगले में मरम्मत का काम चलने के कारण दोनों होटल में ठहर रहे थे।