नई दिल्ली : महाराष्ट्र एंटी टेररिस्ट स्क्वायड (एटीएस) ने 40 वर्षीय श्रीकांत पांगारकर को रविवार शाम को महाराष्ट्र के जालना जिले से गिरफ्तार किया है. पांगारकार पर विस्फोटक पदार्थ अधिनियम की धाराएं व गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल होने की धाराएं लगाई गई हैं. उन्हें न्यायालय में भी पेश कर दिया गया है.

विस्फोटक बरामदगी मामले में हुई गिरफ्तारी
पुलिस के सूत्रों के अनुसार हाल ही में महाराष्ट्र के पालघर में हिंदू संगठन सनातन संस्था के सदस्य वैभव राउत के घर और दुकान से विस्फोटक मिलने के मामले में ही पांगारकार की गिरफ्तारी हुई है. वैभव राउत के पालघर के नल्लासोपारा स्थित घर और दुकान से भारी मात्रा में विस्फोटक मिले थे. उनके घर से 8 देसी बम भी मिले थे. इस बरामदगी के बाद वैभव को हिरासत में ले लिया गया था. सूत्रों के मुताबिक महाराष्ट्र एटीएस काफी वक्त से वैभव पर नजर बनाए हुए थी.

इस मामले में पहले तीन की हो चुकी है गिरफ्तारी
महाराष्ट्र के विभिन्न हिस्सों से विस्फोस्ट मिलने के मामले में श्रीकांत पांगारकर के पहले विभव राउत, शरद कालेस्कर और सुधानवा गोंधलेकर की गिरफ्तारी 10 अगस्त को हुई थी. इन सभी को न्यायालय ने 28 अगस्त तक के लिए एटीएस की कस्टडी में भेज दिया है. पांगारकर जालना नगर निगम के सदस्य रह चुके है. पांगारकर से सीबीआई ने समाज सेवी नरेंद्र दाभोलकर हत्या के मामले में भी पूछताछ की थी.