नई दिल्ली : केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए कहा कि अटलजी की छवि आज भी अटल है. उनकी छवि से प्रभावित हुए बिना कोई रह नहीं सकता था. वे आज नहीं है, फिर भी हमारे बीच हैं. उन्होंने कहा कि अटलजी को लोकप्रियता भारत का प्रधानमंत्री होने के कारण नहीं मिली, बल्कि युवाकाल में ही उनकी प्रतिभा से सभी प्रभावित होते थे. अटलजी के युवाकाल में ही आजाद भारत के लोगों ने उनमें प्रधानमंत्री की छवि देखी थी. सभी को साथ लेकर चलने की कला के कारण की गठबंधन का सफलता पूर्वक चलाने वाले अटलजी ही थी।

उन्होंने कहा कि पोखरण का परिक्षण हो गया और सीआईए को उसकी भनक तक नहीं लगी, यह केवल अटल बिहारी वाजपेयी ही कर सकते थे. कारगिल युद्ध को याद करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि अटलजी ने ना केवल कारगिल का युद्ध जीता, बल्कि कूटनीति के मामले में भी भारत की जीत हुई थी।

बता दें कि दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने के लिए एक शोकसभा का आयोजन किया गया. इस शोकसभा में सभी दलों के नेता शामिल हुए और सभी ने अटलजी को अपने श्रद्धासुमन अर्पित किए. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की निधन 16 अगस्त की शाम को हुआ था. वह काफी समय से बीमार चल रहे थे।

शोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, संघ प्रमुख मोहन भागवत, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद समेत अनेक वरिष्ठ नेताओं ने अटलजी से जुड़े अपने अनुभव साझा किए