मध्यप्रदेश : कांग्रेस विधायक द्वारा प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान की तुलना वैश्या से करने वाले बयान पर राजनीति गरमा गई है। कांग्रेस विधायक ने एक बार फिर सीएम के लिए वैश्या शब्द का इस्तेमाल करते हुए वैश्याओं को सीएम शिवराज से बेहतर बताया जिसे लेकर सोमवार को बीजेपी और कांग्रेस में जुबानी जंग तेज हो गई।

बता दें कि रीवा जिले के गुढ़ से कांग्रेस के विधायक सुंदर लाल तिवारी ने कुछ दिन पहले सीएम शिवराज सिंह चौहान को वैश्या कहा था और शनिवार को जब भोपाल में पत्रकारों के बीच पहुंचे तो फिर से न केवल अपने बयान पर अड़ गए बल्कि वैश्याओं को शिवराज से बेहतर बता दिया।

प्रेस कांफ्रेंस में कांग्रेस विधायक अपने साथ बकायदा डिक्शनरी लेकर भी आए थे और उसी डिक्शनरी से देख कर तिवारी ने बताया कि उन्होने शिवराज को किस संदर्भ में वैश्या कहा था. डिक्शनरी खोलकर उसमें से पढ़ते हुए सुंदरलाल तिवारी ने कहा कि "मुझे मालूम था कि आप लोग ये सवाल पूछेंगे इसलिए मैं अपने साथ डिक्शनरी लेकर आया हूं. मैं विधायक हूं और एक जिम्मेदार आदमी हूं. मुझे अपने कहे का रत्ती भर भी अफसोस नहीं है. अंग्रेजी में प्रॉस्टिट्यूट का हिंदी में मतलब है "अपने गुण, योग्यता आदि को निंदित काम में लगाना, ये भी प्रॉस्टिट्यूट का अर्थ है"

सुंदरलाल तिवारी के इस बयान पर बीजेपी तिलमिला गई है. सूबे के राज्यमंत्री विश्वास सारंग ने इसके लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से जवाब मांगा है.  विश्वास सांरग ने कहा है कि आपत्तिजनक बयानबाजी पर कांग्रेस, मणिशंकर अय्यर को तो चुनाव के वक्त बाहर कर देती हैं और चुनाव खत्म होने के बाद उनको वापस ले लेती हैं" सारंग ने कहा कि "तिवारी जैसे संस्कारहीन व्यक्ति को ताकत इसलिए भी मिल जाती है क्योंकि मणिशंकर अय्यर को गलती करने के बाद भी कांग्रेस वापस ले लेती है". सारंग ने साफ कहा कि बीजेपी इसे चुनावी मुद्दा बनाएगी.

कांग्रेस ने किया तिवारी के बयान का समर्थन

भले ही बीजेपी कांग्रेस विधायक के इस बयान पर आगबबूला है लेकिन कांग्रेस ने सुंदरलाल तिवारी के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि जिस संदर्भ में तिवारी ने सीएम शिवराज को वैश्या कहा वो गलत नहीं है. प्रदेश कांग्रेस की मीडिया प्रभारी शोभा ओझा ने कहा कि "जहां तक तिवारी का बयान है उन्होंने जिस परिप्रेक्ष्य में इस बात को कहा उसमें कहीं कोई गलती नहीं है और हमने तो बीजेपी के नेताओं द्वारा मीडिया को प्रेस्टिट्यूट कहते देखा है. सीएम शिवराज सिंह को सिंधिया जी के लिए इतने गलत शब्द बोलते देखा है. तो बीजेपी किसी मुंह से किसी पर उंगली उठा सकती है.

आपको बता दें कि सुंदरलाल तिवारी इससे पहले भी शिवराज सिंह चौहान को लेकर बयान दे चुके है जिसके बाद काफी हंगामा हुआ था और खुद सीएम शिवराज ने बयान पर जवाब देते हुए वैश्याओं को किसी न किसी की बहन, मां और बेटी बताते हुए कांग्रेस को ही कठघरे में खड़ा कर दिया था.