टोरंटो: नाश्ते में उच्च प्रोटीन वाला दूध पीने से मधुमेह रोगियों को रक्त में शर्करा को नियंत्रण में रखने में मदद मिलती है. कनाडा के यूनिवर्सिटी ऑफ ग्वेल्फ और यूनिवर्सिटी ऑफ टोरंटो के अनुसंधानकर्ताओं ने दिखाया है कि नाश्ते में बदलाव के जरिये टाइप टू मधुमेह के नियंत्रण में मदद मिलती है। अनुसंधान के परिणाम के मुताबिक नाश्ते के दौरान लिये गए दूध से रक्त में ग्लूकोज की मात्रा में कमी आती है। इसमें साथ ही कहा गया कि उच्च प्रोटीन वाला दूध सामान्य प्रोटीन वाले डेयरी उत्पादों की तुलना में खाने के बाद ग्लूकोज की मात्रा में कमी लाने में सहायक सिद्ध होता है।

‘जर्नल ऑफ डेयरी साइंस’ में प्रकाशित अध्ययन नाश्ते के समय दूध पीने के महत्व को रेखांकित करता है। इससे कार्बोहाइड्रेट का पाचन धीरे-धीरे होता है और इससे रक्त में शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद मिलती है. अनुसंधानकर्ताओं ने कहा है कि पोषण विशेषज्ञ हमेशा से पोषक तत्वों से भरपूर नाश्ते की हिमायत करते रहे हैं और यह अध्ययन नाश्ते में दूध को भी शामिल करने को बढ़ावा देता है।

रोजाना करें आम का सेवन, ब्‍लड शुगर का स्‍तर होगा कम!
अब आम आपके स्वास्थ्य का ख्याल रखेगा
। मोटापा से पीड़ित लोग अगर रोजाना आम का सेवन करें, तो उनके रक्त शर्करा (ब्लड शुगर) का स्तर कम हो सकता है। हालिया अध्ययन में यह बात सामने आई है ।

अमेरिका के ओकलाहोमा स्टेट यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ ह्यूमन साइंस में पोषण विज्ञान के सहायक प्रोफेसर एड्रालिन लुकास ने कहा कि निष्कर्ष में यह सामने आया कि मोटापा से पीड़ित लोग लगभग 100 ग्राम आम का रोजाना सेवन करें, तो यह उनके रक्त शर्करा का स्तर कम करने में मदद कर सकता है।

उल्लेखनीय है कि आम में मैग्निफेरिन समेत कई जैव-सक्रिय यौगिक होते हैं, जो एक एंटीऑक्सिडेंट हैं और रक्त शर्करा स्तर को कम करने में सहायक है। लुकास ने कहा कि इसके अलावा, आम फाइबर से भरपूर होता है, जो रक्त में शर्करा के अवशोषण को कम करता है।