इंदौर: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने पाकिस्तान के सेना प्रमुख को गले लगाने पर बीजेपी के तीखे हमले झेल रहे पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू का बुधवार को बचाव किया और आरोप लगाया कि केंद्र में सत्तारूढ़ पार्टी पाकिस्तान को लेकर दोहरा रवैया अपना रही है.

दिग्विजय ने कहा, 'तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने पाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को गले लगाया था. मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को गले लगा चुके हैं. तब तो बीजेपी ने इन गलबंहियों का स्वागत किया था.'

राज्यसभा सांसद ने कहा,'पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के रूप में इमरान खान के हालिया शपथ ग्रहण समारोह में उनके मित्र के नाते पूर्व टेस्ट खिलाड़ी सिद्धू पड़ोसी देश चले गये, तो अब बीजेपी को बड़ी तकलीफ हो रही है. यह बीजेपी का दोहरा मापदंड है.'

दिग्विजय सिंह ने दावा किया कि मोदी सरकार के मुकाबले पूर्ववर्ती यूपीए सरकार के कार्यकाल में जीडीपी की वृद्धि दर अधिक थी. दिग्विजय ने कहा कि प्रधानमंत्री को यह बात स्वीकार करनी चाहिए. पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि मध्यप्रदेश में हुए व्यापमं घोटाले के गिरोहबाज जगदीश सगर ने राज्य लोक सेवा आयोग के जरिये भी अपात्र उम्मीदवारों की नियुक्तियां अहम सरकारी पदों पर करायी हैं.

दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए कहा, 'राज्य लोक सेवा आयोग के नियुक्ति घोटाले की दलाली के हिसाब-किताब से जुड़ी सगर के डायरी के कुछ पन्ने सामने आये हैं. इन पन्नों में सगर ने कुछ जगहों पर 'मामाजी' लिखा है. आप जानते ही हैं कि प्रदेश में मामाजी किसे कहा जाता है.'

वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने एक सवाल पर इस बात से इनकार किया कि मध्यप्रदेश में इस साल के आखिर में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर उनकी पार्टी प्रयास कर रही है कि सत्तारूढ़ बीजेपी के खिलाफ विपक्षी दलों का 'महागठबंधन' तैयार किया जाए. उन्होंने कहा,'फिलहाल इस सिलसिले में महागठबंधन जैसी कोई बात नहीं है. हालांकि, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ विधानसभा सीटों को लेकर तालमेल बनाने पर कुछ क्षेत्रीय दलों से चर्चा जरूर कर रहे हैं.'